scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: कोरोना और बीजेपी के मंत्री से जोड़कर बिहार के मृत व्यक्ति की तस्वीर वायरल

तस्वीर में एक बंद दुकान दिख रही है और शटर के ठीक सामने सीढ़ियों पर एक आदमी पड़ा हुआ है. तस्वीर के साथ दावा किया जा रहा है कि बिहार के सीवान में एक मेडिकल स्टोर के सामने एक कोरोना मरीज ने दम तोड़ दिया.

X
वायरल तस्वीर
वायरल तस्वीर

कोरोना केसों में बढ़ोतरी को देखते हुए बिहार में फिर से लॉकडाउन लागू है. इसी बीच सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है. तस्वीर में एक बंद दुकान दिख रही है और शटर के ठीक सामने सीढ़ियों पर एक आदमी पड़ा हुआ है. तस्वीर के साथ दावा किया जा रहा है कि बिहार के सीवान में एक मेडिकल स्टोर के सामने एक कोरोना मरीज ने दम तोड़ दिया.

ये भी दावा किया जा रहा है कि ये क्षेत्र बिहार बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष और मौजूदा “स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय का निर्वाचन क्षेत्र” है

ट्विटर यूजर “Farhan Shah ” ने तस्वीर को पोस्ट करते हुए लिखा, “सीवान में एक मेडिकल शॉप के बाहर एक कोरोना मरीज की मौत हो गई, विडंबना है कि ये बिहार के स्वास्थ्य मंत्री का निर्वाचन क्षेत्र है.”

fact_check_1_072120124540.jpg

इंडिया टुडे के एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि पोस्ट में किया जा रहा दावा भ्रामक है. तस्वीर में दिख रहे व्यक्ति की मौत हृदय गति रुकने (cardiac arrest) के कारण हुई थी, जो कोरोना पॉजिटिव नहीं पाया गया था. इसके अलावा, सीवान मंगल पांडे का निर्वाचन क्षेत्र नहीं है, बल्कि उनका गृह जिला है. दरअसल, मंगल पांडेय विधायक नहीं हैं, बल्कि बिहार विधान परिषद के सदस्य (एमएलसी) हैं, इसलिए वे किसी निर्वाचन क्षेत्र के प्रतिनिधि नहीं हैं.

यह पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल है. पोस्ट के आर्काइव्ड वर्जन यहां , यहां और यहां देखे जा सकते हैं.

AFWA की पड़ताल

की-वर्ड्स के सहारे हमने बिहार के सीवान में सड़क पर कोरोना मरीज की मौत की खबरों के बारे में सर्च किया. हमें इस बारे में कोई विश्वसनीय रिपोर्ट नहीं मिली.

हमने बिहार में इंडिया टुडे के स्थानीय संवाददाता से बात की. उन्होंने भी इस ​बात की पुष्टि ​की कि सीवान में कोरोना से ऐसी कोई मौत नहीं हुई है.

इस बारे में ज्यादा जानकारी के लिए हमने सीवान कलेक्टर और जिला मजिस्ट्रेट अमित कुमार पांडे से संपर्क किया. उन्होंने बताया कि वायरल तस्वीर में जो व्यक्ति दिख रहा है, उसकी मौत सीवान में ही फतेहपुर बाईपास रोड पर हुई थी. लेकिन ये मौत कोरोना वायरस के चलते नहीं हुई थी.

पांडे ने AFWA को बताया, “तस्वीर में दिख रहे व्यक्ति का नाम धर्मनाथ राय है. वे राजपुर गांव के निवासी थे. 17 जुलाई को वे अपने किसी व्यावसायिक काम से सीवान शहर आए थे और एक दुकान के सामने अचानक गिर गए. स्वास्थ्य अधिकारी बाद में उन्हें पास के सरकारी अस्पताल ले गए. मेडिकल रिपोर्ट के मुताबिक, उनकी मौत कार्डियक अरेस्ट की वजह से हुई. उनके परिवार का कहना था कि उन्हें कोरोना के कोई लक्षण नहीं थे. इसलिए हमने बिना कोरोना टेस्ट कराए शव परिजनों को सौंप दिया.”

कलेक्टर ने बताया कि सीवान में कोरोना वायरस से अब तक छह मौतें हुई हैं, जिनमें से पांच अस्पतालों में हुईं. एक केस ऐसा था जिसमें मरीज की मौत घर पर हुई थी और बाद में उसे कोरोना पॉजिटिव पाया गया था.

हमने पोस्ट में किए जा रहे उस दावे की भी पड़ताल की, जिसमें कहा जा रहा है कि सीवान बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय का निर्वाचन क्षेत्र है.

बिहार विधान सभा की वेबसाइट के मुताबिक, बीजेपी के व्यास देव प्रसाद सीवान के विधायक हैं. हालांकि, मंगल पांडेय सीवान जिले के ही निवासी हैं, लेकिन यह उनका निर्वाचन क्षेत्र नहीं है. मंगल पांडेय बिहार विधान परिषद के सदस्य हैं जो कि राज्य विधानमंडल का उच्च सदन है. इसलिए वे किसी निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व नहीं करते.

केंद्र में राज्य सभा और लोक सभा की तर्ज पर भारतीय संविधान में राज्य विधानमंडलों में दो सदनों का प्रावधान है: विधान परिषद और विधान सभा. विधान परिषद उच्च सदन है और विधान सभा निचला सदन. वर्तमान में देश के 6 राज्यों- बिहार, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, महाराष्ट्र, तेलंगाना और उत्तर प्रदेश में विधान परिषद है. केंद्रशासित प्रदेश बनने से पहले जम्मू-कश्मीर में भी विधान परिषद का प्रावधान था. हाल ही में आंध्र प्रदेश ने विधान परिषद को समाप्त करने का प्रस्ताव पारित किया है.

पड़ताल से स्पष्ट है कि बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के निर्वाचन क्षेत्र ​सीवान में मेडिकल शॉप के बाहर एक कोरोना मरीज की मौत का दावा गलत है. जिस व्यक्ति की मौत हुई, उसे कोरोना संक्रमण होने की पुष्टि नहीं हुई है. इसके अलावा, सीवान मंगल पांडेय का निर्वाचन क्षेत्र भी नहीं है.

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

सीवान में एक मेडिकल स्टोर के सामने एक कोरोना मरीज की मौत हो गई, जो कि बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय का निर्वाचन क्षेत्र है.

निष्कर्ष

इस व्यक्ति की मौत कार्डियक अरेस्ट से हुई थी. उसे कोरोना संक्रमण होने की पुष्टि नहीं हुई है. सीवान, एमएलसी मंगल पांडेय का निर्वाचन क्षेत्र नहीं, बल्कि उनका गृह जिला है.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें