scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: आर्मी भर्ती को लेकर सहारनपुर में दो भाइयों ने किया सुसाइड? ये सिर्फ एक अफवाह है

ऐसा कहा जा रहा है कि ये दोनों यूपी के सहारनपुर जिले में रहने वाले भाई थे जिन्होंने आर्मी भर्ती रद्द होने की वजह से आहत होकर जान दे दी. फोटो पर लिखा है, “आर्मी भर्ती रद्द होने पर दो भाइयों ने दी जान. सहारनपुर में दो सगे भाई आर्मी में फिट थे एक साथ दी जान.”

X
आजतक फैक्ट चेक आजतक फैक्ट चेक
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सहारनपुर में दो भाइयों के सुसाइड का दावा
  • आजतक के फैक्ट चेक में झूठा निकला दावा

भारत सरकार की अग्निपथ स्कीम को लेकर देश भर के युवा भड़के हुए हैं. 16 जून को यूपी से लेकर बिहार तक इसे लेकर आगजनी और पत्थरबाजी की घटनाएं हुईं. कई जगह ट्रेनों को भी रोकना पड़ा. अब इस मामले से जोड़ते हुए सोशल मीडिया पर एक दिल दहला देने वाली फोटो वायरल हो रही है. इस फोटो में जमीन पर फूस के ऊपर दो लाशें रखी हैं. आसपास बैठे कुछ लोग रो रहे हैं. एक महिला हाथ फैलाकर चीत्कार कर रही है.

 

ऐसा कहा जा रहा है कि ये दोनों यूपी के सहारनपुर जिले में रहने वाले भाई थे जिन्होंने आर्मी भर्ती रद्द होने की वजह से आहत होकर जान दे दी. फोटो पर लिखा है, “आर्मी भर्ती रद्द होने पर दो भाइयों ने दी जान. सहारनपुर में दो सगे भाई आर्मी में फिट थे एक साथ दी जान.”

फाइल फोटो

इंडिया टुडे की फैक्ट चेक टीम ने पाया कि ये फोटो साल 2008 से ही इंटरनेट पर मौजूद है. जाहिर है, ये किसी हाल-फिलहाल में हुई घटना की नहीं हो सकती. सहारनपुर, यूपी के एसएसपी आकाश तोमर ने ‘आजतक’ को बताया कि जिले में आर्मी भर्ती रद्द होने की वजह से दो भाइयों के खुदकुशी करने की बात सिर्फ एक अफवाह है.

 

कैसे पता लगाई सच्चाई?  

सहारनपुर में आर्मी भर्ती को लेकर दो भाइयों के आत्महत्या करने जैसी कोई खबर हमें नहीं मिली. हमने इस बारे में सहारनपुर के कुछ पत्रकारों से भी बात की, पर सभी ने इस तरह की किसी घटना से इंकार किया. वर्तमान में ये मामला इतना गर्म है, जाहिर है, अगर ऐसा कुछ हुआ होता, तो सभी जगह इसे लेकर खबर छपी होती. इसके बाद हमने फोटो की जांच शुरू की. टिनआई रिवर्स सर्च इंजन पर इस फोटो को खोजने से हमें पता लगा कि इसे कुछ वेबसाइट्स ने साल 2008 में शेयर किया था. 

फाइल फोटो

एक ब्लॉग में भी इसे 19 जुलाई, 2008 को शेयर किया गया था. ज्यादातर जगह इस फोटो को किसानों की आत्महत्या का मामला बता कर शेयर किया गया है.

 

अग्निपथ स्कीम से क्यों नाराज हैं छात्र?

अग्निपथ स्कीम के तहत चार साल के लिए युवाओं को सेना में भर्ती किया जाना है. चार साल बाद जहां 25 फीसदी लोगों को स्थायी काडर में भर्ती किया जाएगा वहीं 75 प्रतिशत लोगों को सेवा से मुक्त कर दिया जाएगा. 

‘आजतक’ से बातचीत में कुछ छात्रों ने कहा कि पिछले दो सालों से सेना की भर्ती रुकी हुई है और फिजिकल टेस्ट पास करने के बावजूद उन्हें नौकरी नहीं मिली. वहीं कुछ को ये भी शिकायत है कि चार साल के बाद उनका कोई ठौर-ठिकाना होगा या नहीं, इसकी गारंटी नहीं है. 

‘न्यूज 18’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, हाल ही में हरियाणा के रोहतक जिले में एक युवक ने अग्निपथ स्कीम से आहत होकर जान दे दी. हम इस बात की स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं कर सके कि ये तस्वीर कब की और कहां की है. लेकिन इतनी बात तय है कि इसके साथ आर्मी भर्ती रद्द होने पर   सहारनपुर में दो भाइयों के खुदकुशी करने की जो कहानी बताई जा रही है, वो गलत है.

(संजना सक्सेना के इनपुट के साथ)
 

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

ये सहारनपुर , यूपी की हालिया तस्वीर है जहां दो भाइयों ने आर्मी भर्ती रद्द हो जाने पर अपनी जान दे दी.

निष्कर्ष

सहारनपुर में हाल-फिलहाल में इस तरह की कोई घटना नहीं हुई है. ये फोटो कम से कम 14 साल पुरानी है.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें