scorecardresearch
 
एजेंडा आजतक 2013

Youngistan: युवा राजनीति और देश के नेतृत्व पर बात

Youngistan: युवा राजनीति और देश के नेतृत्व पर बात
  • 1/8
एजेंडा आज तक के युवा नेता सेशन में पहुंचे केंद्रीय मंत्री आरपीएन सिंह, भारतीय जनता युवा मोर्चा के अध्यक्ष और सांसद अनुराग ठाकुर, बीजू जनता दल सांसद जय पांडा और लालू प्रसाद यादव के बेटे तेजस्वी यादव.
Youngistan: युवा राजनीति और देश के नेतृत्व पर बात
  • 2/8
युवा राजनीति और देश के नेतृत्व पर आरपीएन सिंह बोले कि राहुल गांधी टीवी डिबेट और सोशल मीडिया का हिस्सा नहीं बनते, मगर वह गांव-देहात में घूमकर लोगों से और युवाओं से कम्युनिकेट कर रहे हैं.
Youngistan: युवा राजनीति और देश के नेतृत्व पर बात
  • 3/8
युवा राजनीति और देश के नेतृत्व पर जय पांडा ने कहा कि जो युवा नेता सांसद बन जाते हैं, उनकी भी आवाज संसद में ठीक से नहीं सुनी जाती.
Youngistan: युवा राजनीति और देश के नेतृत्व पर बात
  • 4/8
युवा राजनीति और देश के नेतृत्व पर बात करते हुए अनुराग बोले कि यूथ 60 साल के मोदी में अपना नेता देखता है क्योंकि वह सही समय पर सही मुद्दे उठाते हैं और उनकी आवाज को आगे रखते हैं.
Youngistan: युवा राजनीति और देश के नेतृत्व पर बात
  • 5/8
युवा राजनीति और देश के नेतृत्व पर तेजस्वी यादव ने अपने पिता की तरह कम्युनल फोर्स से लड़ने की बात करते हुए कहा कि वह न तो पार्टी में कोई पद लेंगे और न ही चुनाव लड़ेंगे.
Youngistan: युवा राजनीति और देश के नेतृत्व पर बात
  • 6/8
राजनीति में खानदान की वजह से आने के सवाल पर तेजस्‍वी बोले, 'मेरे मां-बाप सीएम रह चुके हैं. शुरू से ही घर में राजनीतिक माहौल था. संस्कार में था कि कोई भी घर आए तो उसे खाली हाथ नहीं लौटाना. तो पॉलिटिक्स खून में थी. रही बात मेरी राजनीति की तो मैं देश के 50 फीसदी वोटर यानी युवाओं की राजनीति करना चाहता हूं.'
Youngistan: युवा राजनीति और देश के नेतृत्व पर बात
  • 7/8
राजनीति में खानदान की वजह से आने के सवाल पर पर अनुराग ठाकुर का जवाब था, 'युवा बाउंड्री लाइन के बाहर बैठकर देश नहीं बदल सकते. युवा भारत दबंग भारत बनता जा रहा है. सही दिशा की जरूरत है. सही दिशा दो तो ताक बनेंगे. वर्ना आफत बनेंगे.यही मेरी सोच थी, इसलिए मैं राजनीति में आया. मुझे लोगों का आशीर्वाद मिला. मुझे लगता है कि अच्छे लोग बुरी सरकार तब चुनते हैं, जब वह वोट नहीं करते.'
Youngistan: युवा राजनीति और देश के नेतृत्व पर बात
  • 8/8
दिल्ली गैंगरेप के दौरान कहां थे राहुल गांधी, इस सवाल पर आरपीएन सिंह ने सफाई दी कि राहुल, सोनिया इस मुद्दे पर चिंतित थे और लगातार बैठक कर रहे थे. उस दौरान सोनिया जी के घर के बाहर जो बच्चे, जो युवा धरना दे रहे थे, उन्हें सोनिया जी ने अगली सुबह बुलाया.बात की. उन्होंने जो आवाज उठाई. उसे हमने बिल में रखा.