scorecardresearch
 

सुशांत केस पर निया शर्मा- बेडरूम में बैठ लोग ट्वीट कर रहे ताकि लाइमलाइट में आ सकें

निया शर्मा ने कहा कि मुझे लगता है कि जो भी सुशांत सिंह मामले की जांच से जुड़ा हुआ है सिर्फ उन्हें बोलना चाहिए बाकी लोगों को अब चुप हो जाना चाहिए. उन्हें इस पूरे विवाद में अब और शोर नहीं मचाना चाहिए. लोग अपने बेडरूम में बैठकर ट्वीट कर रहे हैं ताकि वे लाइमलाइट में आ सकें. इसकी जरूरत नहीं हैं.

निया शर्मा निया शर्मा

टीवी इंडस्ट्री की मशहूर अभिनेत्री निया शर्मा सुशांत सिंह राजपूत केस में हो रहे घटनाक्रम से काफी आहत हैं. इस केस में तीन एजेंसियां शामिल हो चुकी हैं और कंगना रनौत समेत कई फैंस ने बॉलीवुड, नेपोटिज्म और मूवी माफिया की जबरदस्त आलोचना की है. हालांकि तीन महीने बीत जाने के बाद भी सुशांत की मौत के कारणों का पता नहीं लगाया जा सका है और इस मामले में रिया चक्रवर्ती समेत कई स्टार किड्स को जबरदस्त हेट का सामना करना पड़ रहा है.

निया शर्मा ने बताया कि मैं दस साल पहले मुंबई आई थी और उस दौरान मैं एक न्यूज चैनल रिपोर्टर बनना चाहती थी लेकिन मेरी किस्मत में एक्टर बनना लिखा था. उन्होंने आगे कहा कि न्यूज चैनल्स इतने ज्यादा गिर चुके हैं और लोगों को चैट शो के माध्यम से जज किया जा रहा है. मुझे कभी कभी लगता है कि क्या इस देश में कोर्ट की जरूरत भी बची है.

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

I’ve learnt to make my Flaws look flawless.

A post shared by Nia Sharma (@niasharma90) on

जो जरूरी हैं वही बोलें, बाकी लोगों को चुप हो जाना चाहिए: निया शर्मा

उन्होंने आगे कहा कि मुझे लगता है कि जो भी सुशांत सिंह मामले की जांच से जुड़ा हुआ है सिर्फ उन्हें बोलना चाहिए बाकी लोगों को अब चुप हो जाना चाहिए. उन्हें इस पूरे विवाद में अब और शोर नहीं मचाना चाहिए. लोग अपने बेडरूम में बैठकर ट्वीट कर रहे हैं ताकि वे लाइमलाइट में आ सकें. इसकी जरूरत नहीं हैं. अगर जो भी इंसान इस केस में जरूरी नहीं है, उसे अब बस चुप हो जाना चाहिए. इसके बाद ही उन आवाजों और उन मुद्दों पर फोकस हो पाएगा जो मायने रखती हैं. 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

The Black eyed peas feels! @rithvik_d @karanwahi @ijaybhanushali 👯‍♂️💯 #KKKMadeInIndia

A post shared by Nia Sharma (@niasharma90) on

निया ने कहा कि हम लोगों की प्राइवेसी खत्म कर और लोगों की बेइज्जती करके काफी प्राइड ले रहे हैं. ये एक गंदा खेल हो चुका है और जिसमें भी इसमें अपनी राय रखता है उसे भी घसीट लिया जाता है. लोग पगला चुके हैं और वे एक बार फिर वही चीजें कर रहे हैं जिससे किसी की मेंटल स्थिति खराब हो सकती है. किसी को नहीं पता है कि क्या हो रहा है. ये जरूरी है कि जो लोग इस मामले की जांच कर रहे हैं और इस मामले से जुड़े हुए हैं, वे इस मामले से डील करें और इस मामले को जल्द सुलझाने की कोशिश करें.  


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें