scorecardresearch
 

जब तिरंगे का अपमान करने पर कॉमेडियन जॉनी लीवर को हुई थी जेल

कॉमेडियन जॉनी लीवर का बचपन बेहद तंगी में बीता. उनके हालात इतने खराब थे कि फीस न भर पाने के कारण उन्‍हें स्‍कूल से निकाल दिया गया था. इसके बाद उन्होंने कई स्तर पर संघर्ष किया. उनका असली नाम जॉन प्रकाश राव जानूमला था.

जॉनी लीवर जॉनी लीवर

गोविंदा जैसे कलाकारों के साथ बेहतरीन कॉमिक जोड़ी बनाने वाले कॉमेडियन जॉनी लीवर का 14 अगस्त को जन्मदिन है. जॉनी का बचपन बेहद तंगी में बीता. उनके हालात इतने खराब थे कि फीस न भर पाने के कारण उन्‍हें स्‍कूल से निकाल दिया गया था. इसके बाद उन्होंने कई स्तर पर संघर्ष किया. उनका असली नाम जॉन प्रकाश राव जानूमला था. हिंदुस्तान लीवर में काम करने के कारण उनका नाम जॉनी लीवर पड़ गया.

1999 में एक निजी समारोह में तिरंगे झंडे का अपमान करने के कारण जॉनी लीवर को सात दिन की सजा सुनाई गई थी. इसके बाद जॉनी ने माफी मांगी और उनकी सजा घटाकर एक दिन कर दी गई.

एक दौर ऐसा भी था जब जॉनी की लाइफ पूरी तरह बदल गई थी. जॉनी लीवर ने अपने अंदर आए इस बदलाव की वजह बताते हुए कहा था, मैं रोमन कैथोलिक हूं और हमेशा से एक धार्मिक इंसान रहा हूं पर एक घटना ने मुझे बदल डाला था. मेरे बेटे को थ्रोट ट्यूमर था. जिसके चलते मैं अपना पूरा समय ईश्‍वर की प्रार्थना में लगाने लगा था. फिर दस दिन बाद मैं बेटे को डॉक्‍टर के पास टेस्‍ट के लिए ले गया. डॉक्‍टर ने बताया कि मेरे बेटे का ट्यूमर खत्म हो गया है. यही से मेरे जीवन में ईश्वर के प्रति आस्था काफी गहरी हो गई थी.

गौरतलब है कि जब जॉनी के बेटे को कैंसर था तो टेंशन की वजह से उन्हें फिल्में भी छोड़ दी थीं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें