scorecardresearch
 

सोनम-आनंद की शादी में टूटा रिवाज, धार्मिक भावनाएं आहत करने का आरोप

सोनम कपूर और आनंद आहूजा ने 8 मई को शादी की थी. दोनों ने सिख समुदाय के रीति रिवाज आनंद कारज के तहत शादी की. लेकिन इस समुदाय के कुछ लोग सोनम और आनंद से एक परंपरा का उल्लंघन करने के कारण नाराज हैं.

सोनम और आनंद सोनम और आनंद

सोनम कपूर और आनंद आहूजा ने 8 मई को शादी की थी. दोनों ने सिख समुदाय के रीति रिवाज आनंद कारज के तहत शादी की. लेकिन इस समुदाय के कुछ लोग सोनम और आनंद से एक परंपरा का उल्लंघन करने के कारण नाराज हैं.

मिड-डे की रिपोर्ट के अनुसार, शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी (एसजीपीसी) के पूर्व प्रबंधकों ने वर्तमान प्रबंधकों से नाराजगी जताई है. उनका कहना है कि सोनम और आनंद की शादी के दौरान आनंद कारज के समय गुरु ग्रंथ साहिब के सामने आनंद को उनकी पगड़ी से कलगी हटाने को नहीं कहा गया था. ये परंपराओं के खिलाफ है. पूर्व प्रबंधक ये मामला अकाल तख्त के ध्यान में लाए हैं.

कान्स: लहंगे के बाद गाउन में सोनम, सेकेंड अपीयरेंस ने किया इंप्रेस

कमिटी के पूर्व प्रबंधक चाहते हैं कि एसजीपीसी के सदस्यों के खिलाफ कड़ा कदम उड़ाया जाए. सोनम और आनंद से इस बारे में क्या सवाल जवाब किए गए हैं, इसे लेकर कोई स्पष्टीकरण नहीं है.

बता दें कि आनंद कारज हिंदू धर्म के विवाह से बिल्‍कुल अलग माना जाता है. यह रस्म दिन में होती है. पारंपरिक हिंदू  शादि‍यों में लग्न, मुहूर्त, जन्मपत्रियों का मिलाना जरूरी होता है. आनंद कारज में ये रस्म ज्यादा महत्व नहीं रखते हैं. सिख धर्म में जो लोग गुरु पर पूरी आस्‍था रखते हैं, वे आनंद कारज करते हैं. उनके लिये हर दिन पवित्र होता है.

बॉलीवुड में इन्हें अपना बेस्ट फ्रेंड मानती हैं सोनम कपूर

आनंद कारज में ग्रंथी गुरुग्रंथ साहिब का पाठ करते हैं. इस दौरान सभी परि‍जनों के सिर पर पगड़ी या सरापा होता है. ये रस्म फेरों से पहले होती है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें