scorecardresearch
 

तिग्मांशु की मौजूदगी से और मजबूत होगा शाहरुख खान का Zero

क्रिसमस पर रिलीज हो रही फ‍िल्म जीरो में तिग्मांशु धूलिया शाहरुख के पिता के रोल में नजर आएंगे. एक बार फ‍िर उन्हें परदे पर देखना दिलचस्प होगा.

जीरो के ट्रेलर में इस तरह दिखे त‍िग्मांशु धूलिया. जीरो के ट्रेलर में इस तरह दिखे त‍िग्मांशु धूलिया.

दीपावली, ईद और क्रिसमस साल के तीन ऐसे मौके हैं जिसका इंतज़ार बॉलीवुड की सबसे बड़ी फिल्मों की रिलीज के लिए भी किया जाता है. एक तरह से ये तीनों त्योहार इंडस्ट्री के सबसे बड़े सितारों के नाम बुक हो जाते हैं. इस बार भी तीनों त्योहारों का बंटवारा मनोरंजन जगत के तीन खान सितारों के बीच हो चुका है. ईद पर बड़े बजट की सलमान खान की रेस 3 पहले ही रिलीज हो चुकी है. दीपावली पर आमिर खान "ठग्स ऑफ हिंदोस्तान" लेकर आ रहे हैं और अब क्रिसमस वीक में शाहरुख खान "जीरो" से धमाल मचाने को तैयार हैं. बजट और स्टार कास्ट के लिहाज से ये साल की सबसे बड़ी फ़िल्में हैं.

जब शाहरुख बोले- 'ले आ अपने तीनों खान, यहीं खड़ा हूं मेरी जान'

शाहरुख के 53वें जन्मदिन के मौके पर मुंबई में भव्य तरीके से जीरो का ट्रेलर लॉन्च कर दिया गया है. बतौर अभिनेता शाहरुख करियर के सबसे मुश्किल दौर से गुजर रहे हैं. बताने की जरूरत नहीं कि "जीरो" का उनका रोल भी बेहद चुनौतीपूर्ण है. जीरो वह फिल्म है जिसके जरिए शाहरुख खान बॉक्स ऑफिस पर अपना खोया रुतबा वापस हासिल कर सकते हैं. ट्रेलर से यह जाहिर होता भी नजर आ रहा है. फिल्म की कहानी में शाहरुख का पसंदीदा प्रेम त्रिकोण है, संवाद बेहद जमीनी और मारक है, सितारों का अभिनय ट्रेलर में सहज ही नजर आया. जीरो में शाहरुख के साथ अनुष्का शर्मा और कटरीना कैफ की भी दमदार भूमिकाएं हैं. एक और बात है जो शाहरुख के लिए फिल्म में फायदेमंद साबित हो सकती है. वो है बतौर अभिनेता तिग्मांशु धुलिया की फिल्म मौजूदगी.

जीरो का ट्रेलर: शाहरुख की फिल्म का ये है मेरठ से कनेक्शन

तिग्मांशु, वो शख्स हैं जिन्हें हिंदी सिनेमा में बहुरंगी गुणों के लिए जाना जाता है. नेशनल स्कूल ऑफ़ ड्रामा का यह पास आउट अब तक के अपने फिल्मी करियर में अलग अलग भूमिकाएं निभा चुका है. उन्होंने कास्टिंग डायरेक्टर से करियर की शुरुआत की थी और बहुत बाद में बॉलीवुड में कई ऐसी चर्चित कहानियों पर फिल्में बनाई जो सितारों की गैरमौजूदगी के बावजूद अलग और बड़ी कामयाबी के लिए जानी गईं. इलाहाबाद में एक लंबा वक्त गुजारने वाले तिग्मांशु ने बतौर निर्देशक 2003 में जिस फिल्म को बनाया वो थी "हासिल". ये हिंदी सिनेमा की एक उल्लेखनीय फिल्म साबित हुई जो यूपी, खासकर 80 और 90 के दशक की छात्र राजनीति को दर्शाती है.

इस फिल्म में इलाहाबाद का ठेठ अंदाज लोगों को पसंद आया और इरफान जैसे सितारे के लिए फिल्म बहुत ही अहम साबित हुई. बाद में तिग्मांशु ने साहब बीवी और गैंगस्टर सीरीज में दो सफल फिल्में की. पान सिंह तोमर के रूप में एक उल्लेखनीय बायोपिक का निर्माण भी किया. लेकिन "द बैंडिट क्वीन" में एक कास्टिंग निर्देशक के रूप में शुरुआत करने वाले तिग्मांशु, यूपी के ठेठपने को दर्शाने के चक्कर में दो बार फिसले भी. पहला झटका उन्हें "बुलेट राजा" ने दिया और दूसरी बार संजय दत्त के साथ उनकी हिट सीरीज साहेब बीवी और गैंगस्टर 3 को दर्शकों ने बुरी तरह खारिज कर दिया.  

लेकिन इस बीच तिग्मांशु ने अभिनय के क्षेत्र में हाथ आजमाया. उन्होंने अब तक कुछ यादगार भूमिकाएं भी कीं. भला अनुराग कश्यप के निर्देशन में बनी "गैंग ऑफ वासेपुर" में रामाधीर सिंह के बिना सरदार खान (मनोज बाजपेयी) और फैजल खान (नवाजुद्दीन सिद्दीकी) का चरित्र कैसे बड़ा बनकर उभरता? मांझी : द माउंटेन मैन में भी उनकी मौजूदगी कमतर नहीं है. तिग्मांशु शायद इकलौते निर्देशक हैं जिन्होंने अब तक हिंदी सिनेमा में "सामंती रंगों" को बहुत प्रभावी तरीके से फिल्माया है. यथार्थ को उभारने के मामले में वो जीनियस हैं. शायद इसीलिए ऐसे निर्देशक बनकर उभरते हैं जिन्हें व्यावसायिक सिनेमा के साथ समानांतर सिनेमा पसंद करता है और तवज्जो देता है.

Zero Trailer Review: एक बौने की इमोशन्स से भरी अनकही कहानी

अब आनंद एल राय के निर्देशन में शाहरुख की जीरो में एक बार फिर तिग्मांशु अभिनय करते नजर आएंगे. ट्रेलर में उनके किरदार की संक्षिप्त झलक देखने को मिली. उनका किरदार उसी रंग का है जिसे वो फिल्माते रहे हैं. पर्दे पर ऐसे सशक्त किरदार को निभा भी चुके हैं (हिंदी पट्टी का वो दबंग ठाकुर जो अतीत के गर्व पर इतराता है.) इस मायने में एक्टिंग हो या उसे फिल्माना, तिग्मांशु का कोई सानी नहीं है और किरदार के लिए उनका चयन फायदेमंद साबित होगा.

जीरो में शाहरुख और तिग्मांशु के "ठकुरई" पर ठसकपने का असर दिखता भी है. ट्रेलर में जो एक दो संवाद तिग्मांशु के हिस्से आए हैं, वो इतना बताने के लिए काफी हैं कि बतौर अभिनेता इस फिल्म से भी छाप छोड़ने को तैयार हैं. निश्चित ही तिग्मांशु की मौजूदगी से शाहरुख खान का जीरो बॉक्स ऑफिस पर और मजबूत होगा.

इस क्रिसमस वीकेंड में बुउआ सिंह और उनके पापा की जोड़ी को देखना मजेदार होने वाला है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें