scorecardresearch
 

बप्पा नहीं, इस गणेश चतुर्थी पर रानी मुखर्जी के घर पहुंचेगी पुलिस!

रानी मुखर्जी को उनके जुहू स्थित बंगले में अवैध निर्माण को लेकर बीएमसी ने नोटिस जारी किया है. बीएमसी की टीम 30 अगस्त को  पुलिस के साथ उनके बंगले में हुए अवैध निर्माण की जांच करने जा सकती है।

रानी मुखर्जी रानी मुखर्जी

इन दिनों फिल्म इंडस्ट्री में गणेश चतुर्थी धूमधाम से मनाई जा रही है. लेकिन बी-टाउस एक्ट्रेस रानी मुखर्जी नई मुसीबत में फंस गई हैं. जहां लोगों के घरों में गणपति बप्पा पधार रहे हैं वहीं रानी के घर बीएमसी नोटिस लेकर पधारी है. ये नोटिस उनके जुहू स्थित बंगले 'कृष्णाराम' में अवैध तरीके से हो रहे निर्माण को लेकर दिया गया है.

हाल ही में बीएमसी की टीम रानी मुखर्जी के घर गई थी लेकिन उन्हें घर का निरीक्षण किए बिना ही वापस लौटना पड़ा था. इसलिए अब बीएमसी 30 अगस्त को पुलिस को लेकर बंगले में हुए अवैध निर्माण की जांच करने जा सकती है. हालांकि, रानी मुखर्जी के प्रवक्ता ने इस मामले पर कहा, प्रारंभिक प्रमाणपत्र को हर साल रिन्यू किया गया था और बंगले की हाइट नियमों के अनुसार है.

जानें रानी मुखर्जी से जुड़ी 10 दिलचस्‍प बातें

एक एक्टिविस्ट ने अवैध निर्माण के खिलाफ बीएमसी में शिकायत की थी. रानी मुखर्जी पर नियमों को ताक में रखकर बंगले में अवैध निर्माण का आरोप है. बीएमसी ने मामले की शिकायत मिलते ही बंगले के मालिक को एक हफ्ते पहले नोटिस जारी किया और निरीक्षण के लिए पहुंची थी. लेकिन बीएमसी की टीम को घर के अंदर नहीं आने दिया गया.

'बहू'रानी मुखर्जी का फर्स्ट अपीयरेंस

दरअसल, साल 2014 में रानी को जुहू स्थित बंगले को लेकर प्रारंभिक प्रमाणपत्र दिया गया था. जोकि एक साल के लिए ही वैलिड था, लेकिन रिकॉर्ड्स के अनुसार कई एक्टिविस्टों ने आरोप लगाया कि प्रारंभिक प्रमाणपत्र की समयसीमा खत्म होने के बाद भी बंगले में निर्माण कार्य जारी रहा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें