scorecardresearch
 

कभी एक्टिंग स्कूल नहीं गए परेश रावल, इस तरह बने अदाकारी के जादूगर

मुंबई में जन्मे परेश एक साधारण परिवार के बेटे थे. उन्होंने सिनेमा जगत में उस शोहरत को भी छुआ है जिसके लिए आज की तारीख में तमाम कलाकार तरसते हैं.

परेश रावल परेश रावल

बॉलीवुड एक्टर परेश रावल इंडस्ट्री के उन दिग्गज कलाकारों में से हैं जिन्होंने तकरीबन हर तरह के किरदार किए हैं और सभी को कामयाब बनाया है. परेश विलेन के किरदार में नजर आए हैं तो उन्होंने कॉमेडी भी की है. वो सीरियस रोल में नजर आए हैं तो उन्होंने साइड रोल भी किए हैं. परेश 30 मई को अपना 64वां जन्मदिन मना रहे हैं. मुंबई में जन्मे परेश एक साधारण परिवार के बेटे थे. उन्होंने सिनेमा जगत में उस शोहरत को भी छुआ है जिसके लिए आज की तारीख में तमाम कलाकार तरसते हैं.

हालांकि इन सारी चीजों के बावजूद एक बात जो परेश रावल ने नहीं भूली वो ये थी कि हाथ भले ही आसमान छूने लगे लेकिन अपने पांव जमीन पर ही रहने चाहिए. परेश रावल के बारे में कम ही लोग इस बात से वाकिफ हैं कि वो कभी किसी एक्टिंग स्कूल नहीं गए. उन्होंने जो कुछ भी सीखा वो अपने से बड़े कलाकारों की सोहबत में रहकर और खुद की मेहनत से सीखा. एक इंटरव्यू में परेश ने बताया कि वह भी एक आम परिवार में पले बड़े हैं.

हालांकि उनके ऊपर कभी उनके परिवार ने अपना सपना नहीं थोपा. परेश ने कहा कि उनके परिवार ने कभी ये नहीं कहा कि मैं इंजीनियर बनूं या डॉक्टर बनूं. वो बस चाहते थे कि मैं कुछ काम करूं जिससे घर में चार पैसे आ जाएं. परेश ने बताया कि उनके घर के पास एक इवेंट हुआ करता था जिसमें लोग फिल्मी डायलॉग बोलते थे और एक्ट करते थे. वह छिपकर वो प्रोग्राम देखने जाया करते थे. एक रोज जब ऑर्गनाइजर्स में से किसी ने देखा तो उन्हें कहा कि वह छिपकर क्यों देखते हैं, वह आएं और प्रोग्राम देखा करें.

लॉकडाउन में दीपिका पादुकोण का वर्क फ्रॉम होम, ऑनलाइन सुन रही हैं स्क्रिप्ट

कोरोना की लड़ाई में सोशल मीडिया बना बड़ा हथियार, सितारों ने जुटाए फंड्स

नसीरुद्दीन शाह के रहे फैन

परेश में एक्टिंग की चाहत हमेशा से थी. वह मौका पड़ने पर एक्ट और मिमिक किया करते थे लेकिन उन्हें ये नहीं पता था कि वह इसी के लिए बने हैं. उन्होंने बताया कि वह नसीरुद्दीन शाह के बहुत बड़े फैन रहे और हमेशा उनसे कुछ सीखते रहे. परेश ने बताया कि जहां तक उनकी खुद की अदाकारी की बात है तो वह ज्यादातर चीजें खुद ही हिट एंड ट्राय करके सीखे हैं. वह जब थिएटर जाने लगे तो अपने सीनियर आर्टिस्ट के साथ घंटों बैठकर उनसे बारीकियां सीखा करते थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें