scorecardresearch
 

'जीन्स पहनते हो, अंग्रेजी नहीं बोल सकते' सुनकर पंकज त्रिपाठी ने दिया ये जवाब

इंटरनेशनल फिल्म फेस्ट‍िवल ऑफ इंडिया (आईएफएफआई) के दौरान पंकज त्रिपाठी ने रिडिफाइनिंग स्टोरीज नाम के सत्र में हिस्सा लिया. इस दौरान पंकज के अंग्रेजी में न बोलने पर सवाल खड़े हो गए.

पंकज त्रि‍पाठी पंकज त्रि‍पाठी

पंकज त्रिपाठी की गिनती अब बेहद सफल और प्रभावी अभिनेताओं में होती है. वे हाल ही में बरेली की बर्फी, स्त्री, सैक्रेड गेम्स, मिर्जापुर आदि फिल्म व वेब सीरीज में नजर आए हैं. हाल ही में इंटरनेशनल फिल्म फेस्ट‍िवल ऑफ इंडिया (आईएफएफआई) के दौरान पंकज त्रिपाठी ने रिडिफाइनिंग स्टोरीज नाम के सत्र में हिस्सा लिया. इस दौरान पंकज के अंग्रेजी में न बोलने पर सवाल खड़े हो गए. उनसे कहा गया था कि ये इंटरनेशनल कांफ्रेंस है, अंग्रेजी में बोल‍िए.

पंकज ने अंग्रेजी में बोलने पर असमर्थता जताई थी, जिस पर एक श्रोता ने कहा- मैं कोरिया से हूं, आप अंग्रेजी में ही बोलें. पंकज ने कहा- मैं अंग्रेजी में नहीं बोल सकता. मैं हिंदी में बोलूंगा, कोई उसे अंग्रेजी में अनुवाद कर देगा. इसके बाद एक श्रोता ने कहा- "आप जीन्स तो पहनते हैं, लेकिन अंग्रेजी में नहीं बोल सकते." ऐसा सुनकर पंकज ने सटीक जवाब दिया.

Review 2: अभिनय के लिहाज से कैसी है पंकज त्रिपाठी और अली फजल की मिर्जापुर?

पंकज त्रिपाठी ने जवाब में कहा- "जिस उम्र में हम भाषा सीख रहे थे, उस समय हमारे पास जीन्स पहनने की सहूलियत नहीं थी." त्रिपाठी का यह जवाब सुनकर दर्शकों ने तालियां बजाने लगे. पंकज ने आगे कहा-  "सर क्या करूं, मैं अंग्रेजी में बोलने और बात करने में असमर्थ हूं."

पंकज ने कहा- "मैं यहां पर रिडिफाइनिंग स्टोरीज के तहत अपनी कहानी सुनाने बैठा हूं. इससे ज्यादा कुछ नहीं कह सकता. आप गौर से मेरी आंखों में देखेंगे न तो सारी कहानी मालूम पड़ जाएगी. मैं इतना ही फिल्मी हूं. "

मिर्जापुर में डॉन का रोल, पर बहुत प्रभावित नहीं करते पंकज त्रिपाठी

इस सेशन के दौरान वक्ता के रूप में राहुल बोस, नील माधव पांडा, दिव्या दत्ता, राजश्री देशपांडे भी मौजूद थे. इसे असीम बजाज ने मॉडरेट किया था. राहुल बोस ने कहा- "मैं अंग्रेजी, बंगाली, पंजाबी, मराठी और हिंदी किसी भी भाषा में बोल सकता हूं. "

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें