scorecardresearch
 

कहानी की मांग पर जूली 2 में बोल्ड सीन, निहलानी बोले- अशोक पंडित ने फैलाए मुझसे जुड़े विवाद

पहलाज निहलानी ने आज तक से बात करते हुए सेंसरशिप और जूली 2 से जुड़ी बातें सामने रखीं. उन्होंने कहा- आज अशोक पंडित नहीं है, जो रोज कॉन्ट्रोवर्सी क्रिएट करता था और बातें मीडिया तक पहुंचाता था.

पहलाज निहलानी पहलाज निहलानी

सीबीएफसी के पूर्व चैयरमैन पहलाज निहलानी की फिल्म 'जूली 2' के बोल्ड सीन्स को लेकर हल्ला मचा हुआ है. जिसने सेंसर बोर्ड में रहते हुए कई फिल्मों के बोल्ड सीन्स पर कट्स लगाए, उनकी ही फिल्म में ऐसे सीन्स का होना लोगों को हजम नहीं हो रहा.

पहलाज निहलानी ने आज तक से बात करते हुए अपनी फिल्म और सेंसरशिप के बारे में कई बातें सामने रखीं. पहलाज ने कहा कि सेंसर बोर्ड में रहते हुए लोगों को मेरा काम गलत लगा. मीडिया ने भी मेरे काम को गलत माना. लेकिन अब मैं सेंसर बोर्ड में नहीं हूं. मुझे अब उन बातों की कोई परवाह नहीं है. अब मैं आजाद पंछी हूं.

सेंसर बोर्ड से जाते ही निहलानी हुए 'असंस्कारी', जूली-2 से जुड़े

पहलाज निहलानी ने आगे कहा- बतौर प्रोड्यूसर मेरा और मीडिया का चोली दामन का रिश्ता है. मैं रोज पेपर पढ़ता हूं. आज अशोक पंडित नहीं है, जो रोज कॉन्ट्रोवर्सी क्रिएट करता था और बातें मीडिया तक पहुंचाता था.

'जूली 2' के बोल्ड सीन्स पर उन्होंने कहा कि ये कहानी की डिमांड है. कहानी के कारण ही वैसे सीन्स और पोस्टर्स फिल्म में हैं. फिल्म मॉडलिंग की कहानी से जुड़ी है. 'जूली 2' में ना वल्गैरिटी है, ना डबल मीनिंग और ना ही इसमें गंदे शब्द है. ये फिल्म क्लीन है पर एडल्ट है. आखिरी बार फिर कहता हूं मैं संस्कारी था, हूं और रहूंगा.

पहलाज निहलानी- कानून के दायरे में है फिल्मों पर कट लगाना, कोई रोक नहीं सकता

मैंने सीबीएफसी का चैयरमैन रहते हुए 2.5 साल में सिर्फ 30 या 32 फिल्में देखी. वो भी वो फिल्में जो पास नहीं हो रही थी.

रोज पेपर में सीबीएफसी को लेकर कुछ न कुछ छप रहा है. 'जुड़वा 2', 'भूमि' को भी सीन काटे गए हैं. 'भूमि' से सनी लियोनी का गाना भा काट दिया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×