scorecardresearch
 

बिहार पुलिस का दावा- एक कॉल के बाद मदद करने से पीछे हटी मुंबई पुलिस, दिशा की फाइल भी डिलीट

शन‍िवार शाम बिहार पुलिस की टीम मालवणी पुलिस थाने में दिशा साल‍ियन की अप्राकृतिक मौत के बारे में पूछताछ करने गई. मुंबई पुलिस के जांच अधिकारी ने सभी विवरण साझा करने की बात कही, लेकिन उसी समय एक कॉल मिलने के बाद चीजें बदल गईं.

सुशांत सिंह राजपूत सुशांत सिंह राजपूत

सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड से पहले उनकी मैनेजर दिशा सालियन के सुसाइड ने सभी को चौंका दिया था. उनके बाद जब एक्टर ने भी फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली तो लोगों को दोहरा झटका लगा. सुशांत केस में मुंबई पुलिस के बाद अब बिहार पुलिस भी मामले की छानबीन कर रही है. अब सुशांत की मौत की तहकीकात के लिए बिहार पुलिस दिशा सालियन की मौत के पीछे की भी जांच-पड़ताल में जुट गई है. इसी सिलसिले में बिहार पुलिस की टीम शन‍िवार शाम को मालवणी पुलिस थाने पहुंची.

शन‍िवार शाम बिहार पुलिस की टीम मालवणी पुलिस थाने में दिशा साल‍ियन की अप्राकृतिक मौत के बारे में पूछताछ करने गई. मुंबई पुलिस के जांच अधिकारी ने सभी विवरण साझा करने की बात कही, लेकिन उसी समय एक कॉल आने के बाद चीजें बदल गईं. उन्होंने बिहार से आई टीम को बताया कि दिशा के विवरण वाले फोल्डर को "अनजाने में डिलीट कर दिया गया है" और इसे नहीं ढूंढ सकते.

घर पर नहीं मिला दिशा की फैमिली का कोई सदस्य

जब बिहार पुलिस ने कहा कि वे फाइल को दोबारा प्राप्त करने में उनकी मदद कर सकते हैं, तो उन्होंने अपना लैपटॉप उन्हें देने से इनकार कर दिया. बिहार के अधिकारियों को मुंबई पुलिस ने पेड लीव का आनंद लेने और मामले की जांच नहीं करने के लिए कहा, क्योंकि राजनेता आपस में लड़ रहे हैं. आज बिहार पुलिस दिशा के परिवार के सदस्यों के बयान लेने गई थी लेकिन परिवार का कोई सदस्य मौजूद नहीं मिला. बिहार पुलिस चाबी बनाने वाले को ढूंढ रही है जिसने एक्टर के कमरे के दरवाजे का लॉक खोला था.

क्या सुशांत-दिशा की मौत के बीच है कोई कनेक्शन? बिहार पुलिस कर रही छानबीन

तनुश्री को नहीं मुंबई पुलिस पर भरोसा, बताया बॉलीवुड से भी ज्यादा खराब

इससे पहले दिशा सालियन की फैमिली ने अपनी बेटी के संदर्भ में कुछ बातें कहीं थी. एक नोट में सालियन की फैमिली की तरफ से कहा गया कि- 'प्रिय लोगों, आप मुझे या दिशा को पर्सनली नहीं जानते होंगे. मगर हम सभी लोगों में एक चीज कॉमन होती है. हम दूसरों का दर्द महसूस कर सकते हैं. हमने एक अपना खोया है और हम इस दुख से बाहर निकलने की कोशिश कर रहे हैं. हमारी तरफ से ये निवेदन है कि कृप्या किसी भी बात को लेकर ना किसी भी तरह की अफवाहें फैलाएं और ना किसी भी तरह की अफवाहों पर विश्वास करें. साथ ही किसी की मौत का लाभ उठाना बंद करें.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें