scorecardresearch
 

हिमाचल: मनाली में 10 दिनों तक होम क्वारनटीन रहेंगी कंगना रनौत

लगभग पांच दिनों के बाद कंगना हिमाचल प्रदेश वापस आई हैं. ऐसे में कोरोना गाइडलाइन के हिसाब से कंगना को क्वारनटीन रहना होगा. प्रदेश सरकार ने इसी नियम को मानते हुए उन्हें 10 दिनों के लिए होम क्वारनटीन रहने को कहा है. 

मनाली में होम क्वारनटीन रहेंगी कंगना (फाइल फोटो) मनाली में होम क्वारनटीन रहेंगी कंगना (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सोमवार सुबह मुंबई से चंडीगढ़ पहुंची कंगना
  • बाद में अपने घर मनाली के लिए हुई रवाना
  • एहतियातन 10 दिनों तक रहेंगी होम क्वारनटीन

फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत सोमवार को मनाली स्थित अपने घर पहुंच गई हैं. जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने उन्हें 10 दिनों के लिए एहतियातन होम क्वारनटीन किया है. सुबह करीब 11:40 पर कंगना चंडीगढ़ एयरपोर्ट से मनाली की तरफ  निकली थीं. कुल्लू के पास बहन रंगोली के घर थोड़ी देर रुकने के बाद वो मनाली पहुंची हैं. फिलहाल कंगना ने मीडिया से कोई बात नहीं की है. कंगना को 10 दिनों तक होम क्वारनटीन रहना होगा. 

जाहिर है कंगना रनौत नौ सितंबर को मुंबई पहुंची थी. लगभग पांच दिनों के बाद वो हिमाचल प्रदेश वापस आई हैं. ऐसे में कोरोना गाइडलाइन के हिसाब से कंगना को क्वारनटीन रहना होगा. प्रदेश सरकार ने इसी नियम को मानते हुए उन्हें 10 दिनों के लिए होम क्वारनटीन रहने को कहा है. 

इससे पहले रविवार को कंगना मुंबई के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से भी मिली थीं. जहां लगभग आधे-पौने घंटे तक उनकी बातचीत हुई. राज्यपाल से मुलाकात के बाद मीडिया से बात करते हुए कंगना ने कहा कि वे (राज्यपाल) यहां के गार्जियन हैं. मेरा पॉलिटिक्स से लेना-देना नहीं है. मेरे साथ अभद्र व्यवहार हुआ है. गवर्नर साहब ने बेटी की तरह मेरी बात सुनी. मुझे विश्वास है कि मुझे न्याय मिलेगा. 

कंगना रनौत ने आरोप लगाया है कि मुंबई में उन्हें असुरक्षा महसूस हो रही है और लगातार धमकाया जा रहा है. कंगना रनौत ने सुबह ही ट्वीट किया था कि वो भारी मन के साथ मुंबई छोड़ रही हैं, उन्हें लगातार धमकाया गया और डराने की कोशिश की गई. मेरे घर को तोड़ने की कोशिश की गई और दफ्तर को तोड़ दिया गया, जो मैंने PoK की बात कही थी वो सच साबित होती दिख रही है.

अभिनेत्री कंगना रनौत सोमवार को मुंबई से वापस चंडीगढ़ पहुंचने के बाद एक और ट्वीट किया. कंगना ने लिखा कि अब मुंबई में पहले जैसी सुरक्षा नहीं रही है, इसके लिए उन्होंने शिवसेना के सोनिया सेना होने को कारण बताया. बाद में वो मनाली के लिए रवाना हो गई थीं. 

हालांकि सोशल साइट के जरिए कंगना का महाराष्ट्र सीएम उद्धव ठाकरे पर हमला जारी है. उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, 'महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री की बेसिक समस्या ये है कि मैंने आखिर क्यों मूवी माफिया, सुशांत सिंह राजपूत के हत्यारों और उनके ड्रग रैकेट को एक्सपोज किया, जिनके साथ उनका बेटा आदित्य ठाकरे घूमता-फिरता था. ये मैंने बहुत बड़ा अपराध कर दिया है और अब वे मुझे फिक्स करना चाहते हैं. ओके आप कोशिश कीजिए. देखते हैं कि कौन किसको फिक्स करता है.'

बता दें कि कंगना सुशांत सिंह राजपूत मामले में बयानबाजी करते हुए मूवी माफिया और बॉलीवुड की कई हस्तियों पर निशाना साध चुकी हैं. हालांकि शिवसेना लीडर संजय राउत के साथ हुई बहस के बाद बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) ने कंगना के ऑफिस पर एक्शन लेते हुए तोड़फोड़ की. कंगना ने इसके बाद अपने ऑफिस को राममंदिर और बीएमसी कर्मचारियों की बाबर से तुलना कर दी.

इतना ही नहीं कंगना ने ऑफिस में तोड़फोड़ को लेकर सीधे महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे पर निशाना साधा और कहा कि अभी उनका घर टूटा है, जल्द ही ठाकरे का घमंड भी टूटेगा. 

दरअसल राउत के साथ हुई ट्विटर वॉर के दौरान कंगना ने मुंबई को असुरक्षित और पीओके बता दिया था. वही संजय ने कंगना को हरामखोर और फिर नॉटी कहा था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें