scorecardresearch
 

'बॉम्बे वेलवेट' की प्रमोशन के दौरान रणबीर और अनुष्का से खास बातचीत

'बॉम्बे वेलवेट' के जॉनी बलराज और जैज सिंगर रोजी अपनी फिल्म के प्रमोशन के लिए आजतक पहुंचे.

X
Anushka Sharma and Ranveer singh Anushka Sharma and Ranveer singh

'बॉम्बे वेलवेट' के 'जॉनी बलराज' और जैज सिंगर 'रोजी' अपनी फिल्म के प्रमोशन के लिए आजतक पहुंचे. अनुराग कश्यप की फिल्म 'बॉम्बे वेलवेट' में लीड रोल अदा कर रहे रणबीर कपूर और अनुष्का शर्मा ने 15 मई को रिलीज होने जा रही अपनी फिल्म के बारे में कई खास बातें शेयर कीं. इस खास बातचीत के पेश हैं कुछ खास अंश:

'बॉम्बे वेलवेट' 60 के दशक के दौर की फिल्म है?
 रणबीर कपूर:जी बिलकुल इस फिल्म की पूरी कहानी 60 के दशक पर बेस्ड है. आप कह सकते हैं कि यह पूरी तरह से एक नई पीढ़ी की ट्रांसफॉर्म फिल्म है.

क्या वजह रही इस फिल्म को साइन करने की?
रणबीर कपूर: मैंने इस फिल्म की कहानी पढ़ी मुझे बेहद पसंद आई. मैंने खुद अनुराग से इस फिल्म में मुझे साइन करने को कहा. हालांकि इस फिल्म के लिए मैं उनकी च्वॉइस नहीं था लेकिन फिर भी मैंने उन्हें मना लिया. इस फिल्म को अनुराग पिछले 8 साल से बनाने की सोच रहे हैं लेकिन कभी बजट तो कभी स्टारकास्ट की अटकलों के कारण फिल्म को बनाने में देरी हुई.

हीरो हीरोइन के लिंक अप्स के विवाद फिल्म को हिट करवाने में क्या मदद करते हैं.
रणबीर कपूर: बिलकुल नहीं मुझे लगता है फिल्म सिर्फ उसकी कहानी और मेहनत के बलबूते हिट होती है ना की लिंक अप या अफेयर के कारण. इसके अलावा कोई भी स्टार इस तरह के हथकंडे नहीं अपनाते यह सिर्फ कॉन्फ्रेंस या इवेंट में पूछे गए सवालों से खड़े हुए विवाद होते हैं.

करण जौहर का रोल काफी सरप्राइज करने वाला है?
अनुष्का शर्मा: हंसते हुए यह जानकर हमे भी सरप्राइज मिला. क्योंकि हमारे दिमाग में उनकी ए‍क अलग इमेज बनी हुई है लेकिन इस किरदार को उन्होंने इतनी शिद्दत से अदा किया है कि अब वह विलेन का रोल ही करेंगे(हंसते हुए)

अनुष्का आपकी 60 के दशक की फेवरेट फिल्म?
अनुष्का शर्मा:
वैसे तो मैं 60 के दशक की कम ही फिल्में देखती हूं लेकिन जो भी देखी हैं उनमें मुझे गाइड फिल्म पसंद आई थी. इस फिल्म में लीड रोल प्ले करने वाली वहीदा रहमान से भी मैं अभी हाल ही में मिली और मुझे उनसे बात करके बहुत कुछ सीखने को मिला.

एक फिल्म में दो डायरेक्टर्स के साथ काम करने का एक्सपीरियंस कैसा रहा?
रणबीर कपूर: इस फिल्म में दो डायरेक्टर्स थे जो कि दोनों ही ए‍क दूसरे से बिलकुल उलट. ए‍क करण जौहर जिनकी फिल्म में हीरो जैसे कल हो ना हो में शाहरुख 3 घंटे बाद मरता है और एक अनुराग बसु जिनकी फिल्म के पहले 3 मिनट में हीरो की मौत हो जाती है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें