scorecardresearch
 

हैदराबाद रेप केस पर मिमी चक्रवर्ती ने जताया रोष, बोलीं- कठोर कानून बनाने की जरूरत

मिमी चक्रवर्ती ने कहा कि कड़े कानून बनाने के लिए सरकार को कदम उठाना पड़ेगा जिससे की कोई बेटी चाहे हैदराबाद की हो, केरल की हो, कोलकाता की हो या दिल्ली की हो उसके साथ इस तरीके के वहशी कुछ न कर पाएं.

मिमी चक्रवर्ती (फोटो- ANI) मिमी चक्रवर्ती (फोटो- ANI)

हैदराबाद में महिला डॉक्टर के साथ हुई क्रूरता के खिलाफ पूरा देश खड़ा हो गया है. सड़क से लेकर संसद तक इस घटना की आवाज गूंजी. सोमवार को यह मुद्दा संसद के दोनों सदनों में उठा. लोकसभा स्पीकर ओम बिरला और राज्यसभा में सभापति वेंकैया नायडू ने भी महिलाओं के खिलाफ अपराध पर चिंता जताई.

इस घटना पर टीएमसी सांसद मिमी चक्रवर्ती ने भी अपना रोष प्रकट किया है. मिमी ने कहा, ऐसे वहशी लोगों को जनता के बीच में छोड़ देना चाहिए और जनता उनका वहीं पर हिसाब कर दे. उन्होंने कहा कि कड़े कानून बनाने के लिए सरकार को कदम उठाना पड़ेगा जिससे की कोई बेटी चाहे हैदराबाद की हो, केरल की हो, कोलकाता की हो या दिल्ली की हो उसके साथ इस तरीके के वहशी कुछ न कर पाएं कदम न उठा पाएं. ऐसे लोग मानसिक रूप से विकृत होते हैं और इनके खिलाफ फैसला तुरंत ही करना चाहिए.

View this post on Instagram

Yup i woke up like this😂😬😬

A post shared by Mimi (@mimichakraborty) on

सोमवार को एआईएडीएमके की विजिला सत्यानंद राज्यसभा में चर्चा के दौरान इस घटना पर भावुक भी हो गईं. उन्होंने कहा कि बेटियों के लिए भारत सुरक्षित नहीं रहा. उन्होंने अपराधियों के खिलाफ कठोर सजा की मांग करते हुए कहा, महात्मा गांधी ने कहा था कि जब आधी रात को महिलाएं बिना किसी डर के आ जा सकेंगी, तब ही वास्तविक स्वतंत्रता होगी. विजिला ने नशीली दवाओं को इस तरह की घटनाओं का एक कारण बताते हुए इन पर रोक लगाने, बलात्कार के मामलों की शीघ्र सुनवाई करने, दोषी को मृत्युदंड देने और सजा पर तामील की भी मांग की.

वहीं, समाजवादी पार्टी से राज्यसभा सदस्य जया बच्चन ने कहा कि चाहे निर्भया हो या कठुआ, सरकार को उचित जवाब देना चाहिए. जिन लोगों ने ऐसा किया, उनकी सार्वजनिक तौर पर लिंचिंग करनी चाहिए. जिन पुलिसकर्मियों ने लापरवाही बरती है, उनका नाम सार्वजनिक किया जाना चाहिए और उनको शर्मिंदा करना चाहिए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें