scorecardresearch
 

CAA के खिलाफ प्रदर्शन में पहुंचे एक्टर सिद्धार्थ, बोले, एकजुट रहना होगा

इंडिया टु़डे टीवी के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत में बताया कि CAA से धर्म को लेकर भारत में भेदभाव होगा और ये कानून पूरी तरह से संविधान के खिलाफ हैं.

सिद्धार्थ सिद्धार्थ

देश भर में सीएए और एनआरसी कानून के खिलाफ जबरदस्त प्रदर्शन चल रहे हैं. 19 दिसंबर को चेन्नई में भी वाल्लुवरकोट्टम में प्रोटेस्ट के लिए पुलिस से परमिशन मांगी गई थी लेकिन ऐन वक्त पर पुलिस ने परमिशन देने से मना कर दिया था. इसके बावजूद सैंकड़ों लोग प्रदर्शन में पहुंचे थे और सरकार के खिलाफ अपना विरोध प्रदर्शन दर्ज कराया था. तमिल एक्टर सिद्धार्थ भी इस प्रदर्शन में पहुंचे थे.

सिद्धार्थ देश और दुनिया के कई मुद्दों को लेकर सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं. वे CAA के खिलाफ पिछले कुछ समय से अपने विचार प्रकट कर रहे हैं और इस कानून का सख्ती से विरोध कर रहे हैं. आज मुंबई के क्रांति मैदान में भी उन्होंने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई. इंडिया टु़डे टीवी के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत में सिद्धार्थ ने बताया कि CAA से धर्म को लेकर भारत में भेदभाव होगा और ये कानून पूरी तरह से संविधान के खिलाफ हैं. उन्होंने कहा कि CAA सरकार को ये हक देगी कि धर्म के आधार पर कौन प्रताड़ित है और कौन नहीं. देखिए कश्मीर में क्या हो रहा है. कई मेंबर ऑफ पार्लियामेंट हाउस अरेस्ट है, इंटरनेट 4 महीने से नहीं है और वे कह रहे हैं कि हालात एकदम सामान्य है.

उन्होंने कहा कि CAA बेहद कठोर कानून है. उन्होंने देश भर में चल रहे एंटी CAA और NRC प्रोटेस्ट्स को सही ठहराया है और कहा, ये भयानक कानून है और हमें लगातार इसके खिलाफ प्रदर्शन करना चाहिए. प्रोटेस्ट करना हमारा हक है. मैंने प्रदर्शनकारियों को कहा है कि उन्हें संयम नहीं खोना चाहिए और हमेशा देखते रहना चाहिए कि वे क्या कह रहे हैं क्योंकि आपके किसी भी बयान को तोड़-मरोड़ने के लिए लोग तैयार हैं. हमें इसके खिलाफ एकजुट रहना होगा.'

कई मलयाली सितारों के अलावा तमिल स्टार कमल हासन ने भी किया इस कानून का विरोध

गौरतलब है कि एक्टर कमल हासन के बाद  सिद्धार्थ ऐसे तमिल सितारे हैं जो सीएए के विरोध में खड़े हैं. उन्होंने कुछ समय पहले देश भर की यूनिवर्सिटीज में छात्रों के प्रदर्शन को सही ठहराया था. साल 2006 में आई फिल्म रंग दे बसंती में आमिर खान के साथ नजर आने वाले सिद्धार्थ ने इस फिल्म में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी और उनके कई डायलॉग्स लोगों के बीच फेमस हुए थे और इस फिल्म को आज भी क्लासिक राष्ट्रवादी फिल्मों में शुमार किया जाता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें