scorecardresearch
 

अभिनेता फारुख शेख का दुबई में दिल का दौरा पड़ने से निधन, फिल्मी दुनिया स्तब्ध

फिल्म अभिनेता फारुख शेख का दिल का दौरा पड़ने से देहांत हो गया है. वह 65 साल के थे. अपनी बीवी और दो बेटियों के साथ छुट्टियां मनाने वह दुबई गए हुए थे. यहीं उन्हें अचानक दिल का दौरा पड़ा जिसने उनकी जान ले ली.

फारुख शेख फारुख शेख

फिल्म अभिनेता फारुख शेख का दिल का दौरा पड़ने से देहांत हो गया है. वह 65 साल के थे. अपनी बीवी और दो बेटियों के साथ छुट्टियां मनाने वह दुबई गए हुए थे. यहीं उन्हें अचानक दिल का दौरा पड़ा जिसने उनकी जान ले ली.

फारुख शेख के देहांत से फिल्म जगत को गहरा सदमा लगा है. औपचारिकताएं पूरी होने के बाद उनका पार्थिव शरीर मुंबई लाया जाएगा.  हेडलाइंस टुडे के पॉलिटिकल एडिटर जावेद अंसारी ने बताया, '25 दिसंबर को ही उन्होंने मुझे क्रिसमस का संदेश भेजा था. वह बेहद दिलचस्प इंसान थे. यह खबर हिला देने वाली है.'

 

 बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन समेत कई हस्तियों ने फारुख शेख के निधन पर शोक जताया है. अमिताभ ने ट्विटर पर लिखा, 'हे ईश्वर, फारुख शेख नहीं रहे. एक सच्चे सज्जन, एक उम्दा साथी! बेहद दुखद.' फारुख 1970-80 के दशक की अपनी फिल्मों के लिए ज्यादा जाने जाते हैं. उन्होंने समानांतर सिनेमा में अहम योगदान किया है. हमेशा ही वह अपने कलात्मक पक्ष के लिए जाने गए. सत्यजीत रे, मुजफ्फर अली, ऋषिकेश मुखर्जी और केतन मेहता जैसे दिग्गज डायरेक्टर्स के साथ काम करने का गौरव भी उन्हें हासिल है.

 

गर्म हवा, शतरंज के खिलाड़ी, उमराव जान, चश्मे-बद्दूर, लोरी, बाजार, अब इंसाफ होगा उनकी अहम फिल्में हैं. इस साल उन्होंने 'ये जवानी है दीवानी' और 'क्लब 60' फिल्मों में भी काम किया.

 

फारुख शेख ने कई टीवी सीरियल्स में भी काम किया है. वह थियेटर जगत में भी बड़ा नाम हैं. शबाना आजमी के साथ उनका नाटक 'तुम्हारी अमृता' खासा लोकप्रिय है. टीवी शो 'जीना इसी का नाम है' को भी उन्होंने होस्ट किया है. 2010 में फिल्म 'लाहौर' के लिए उन्हें बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर का नेशनल अवॉर्ड मिला.

 

फिल्मकार शेखर कपूर ने ट्विटर पर फारुख शेख को श्रद्धांजलि दी है. उन्होंने लिखा, 'रेस्ट इन पीस फारुख शेख. गर्म हवा, चश्मे-बद्दूर, उमराव जान, कथा शंघाई. उनकी प्रतिभा की लिस्ट कभी खत्म नहीं होती. उन्होंने अपनी जिंदगी पूरी शिद्दत से कला के लिए समर्पित कर दी.'

अभिनेता मुकेश तिवारी ने फेसबुक पर लिखा, 'भोर में सिमटी चुप्पी ,बयार में पसरी वीरानगी/शायद उनके न रहने की आहट थी/इक तहज़ीबयाफ्ता शख़्स आदाब संग कर गया. श्रद्धांजलि फ़ारूक़ शेख़ साब'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें