scorecardresearch
 

नशे और डिप्रेशन से जूझ रही थीं ABCD स्टार लॉरेन, सुनाई संघर्ष की कहानी

लॉरेन ने बताया कि कैसे उन्होंने डिप्रेशन का सामना किया और किस तरह से वे नशे की लत से बाहर निकलीं. उन्होंने बताया कि 15 साल की उम्र से ही वे तनाव का सामना कर रहीं थी.

X
लॉरेन गॉटलिब
लॉरेन गॉटलिब

साल 2013 में फिल्म ABCD रिलीज हुई थी. डांसर्स पर बेस्ड इस फिल्म को दर्शकों ने खूब पसंद भी किया था. फिल्म का निर्देशन रेमो डीसूजा ने किया था जबकि प्रभुदेवा और लॉरेन गॉटलिब जैसे शानदार डांसर्स फिल्म में बतौर एक्टर शामिल थे. लॉरेन, एक्ट‍िंग के अलावा अपने डिप्रेशन की वजह से काफी सुर्खियों में रही हैं. हाल ही में एक इंटरव्यू में उन्होंने डिप्रेशन से अपने स्ट्रगल के बारे में बात की.

पिंकविला से बातचीत में लॉरेन ने बताया कि कैसे उन्होंने डिप्रेशन का सामना किया और किस तरह से वे नशे की लत से बाहर निकलीं. उन्होंने बताया कि 15 साल की उम्र से ही वे तनाव का सामना कर रहीं थी. उन्होंने कहा- 'हम सब इस हालात का एक ना एक बार सामना करते हैं. कई बार हम दुखी होते हैं पर फिर भी बाहर जाते हैं और लोगों के सामने हंसते हैं क्योंकि हमें बाहर काम है.'

उन्होंने आगे कहा, 'कुछ महीनों पहले मैं यूएसए गई थी, जहां मेरी दोस्त मुझे एक सेमिनार में ले गई. वहां मुझे कुछ लोगों के सामने बोलना था और मेरे चेहरे पर मास्क था. अचानक मैं रोने लगी और मेरा मास्क निकल आया. मैं 400-500 लोगों के सामने खड़ी हो गई. मैं खुद को बदसूरत और कमजोर महसूस कर रही थी, इतना जितना पहले कभी नहीं किया था. मुझे लगा कोई मुझसे बात नहीं करेगा, लेकिन लोग मेरे पास आए और मुझे शाबासी दी.'

आसान नहीं था नशा छोड़ना

उन्होंने शराब और ड्रग्स की लत पर बात करते हुए कहा- 'यह मुश्क‍िल था. इससे मैं लड़ चुकी हूं. यह कुछ ऐसा है जब आप सोचते हैं कि शायद इनसे आप अपने अंदर चल रहे कश्मकश को खुश कर सकते हैं. नहीं कुछ भी बाहरी चीज आपको अंदर से खुश नहीं कर सकती. बाद में आप इन्हें बंद कर देते हो. मुझे पहले ये परेशानी नहीं थी.' '

लॉरेन ने आगे कहा कि आज वह जिस पोजिशन पर हैं वह इसलिए क्योंकि उन्होंने बीते हुए कल को जाने दिया है. उन्होंने कहा- 'मुझे लगता है कि आज मैं पिछली बातों पर बात कर सकती हूं क्योंकि अब मैं उस मेंटल पोजिशन तक पहुंच गई हूं जहां मैंने अपने कई सारी परेशानियों को जाने दिया है. हम सब आजाद पैदा हुए थे, बाद में जिंदगी हमारे सामने शर्तें रखती है जो कि गलत है. पेरेंट्स और दूसरे भी अपनी जरूरत के मुताबिक शर्त रखते हैं और आप उनके मुताबिक काम करते हो.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें