scorecardresearch
 

सलमान के दौलतमंद होने की 5 कहानियां

सलमान खान के दौलतमंद बनने की पांच कहानियां हैं और ये बात खुद सलमान खानने बताई हैं. बारह घंटों में सलमान चांदी के हो गये और उनका दिल सोने काहो गया.

सलमान खान के दौलतमंद बनने की पांच कहानियां हैं और ये बात खुद सलमान खान ने बताई हैं. बारह घंटों में सलमान चांदी के हो गये और उनका दिल सोने का हो गया.

सलमान के दौलतमंद बनने की कहानी नंबर वन
सलमान ने सुबह-सुबह अनाज की बोरियां उठाई थी तो शाम होते- होते सलमान को चांदी की सिल्लियों से तोल दिया गया.  कितना वजन उठाया होगा सलमान ने. यहीं कोई तीस चालीस किलो. तीस चालीस किलो अनाज की कीमत होगी चार-पांच सौ रुपये. लेकिन बदलें में इस मजदूरी की कीमत क्या मिली? सलमान को उनके वजन के बराबर उन्हें चांदी से तोल गया. करीब नब्बे किलो चांदी जब तराजू पर चढ़ाया गया तब जाकर कांटा बराबर हुआ. वो तो अच्छा है कि रमजान का महीना है वरना सलमान के वजन की बराबरी करने के लिए और ज्यादा चांदी की ज़रूरत पड़ती. सलमान के वजन की इस चांदी को दुबई के एक कारोबारी ने खरीद लिया. सोचिए हाल में ही सलमान का एक टावेल 1.50 लाख में नीलाम हुआ था तो सलमान के नाम की इस चांदी ने कैसे दौलत बटोरी होगी. सलमान को खुशी इस बात की है ये दौलत उनकी संस्था बीइंग ह्यूमन के जरिए सीधे सीधे ज़रूरत मंदो तक जाएगी. लेकिन इन्हीं बारह घंटो के दौरान सलमान खान का दिल सोने का कैसे हो गया? सलमान ने तो अपना दिल सुबह सुबह ही उन बच्चों पर लुटा दिया था जो मुंबई के बाल सुधार गृह में गरीबी और अभाव के बीच इंसानियत का पाठ पढ़ रहे हैं. यही तो करिश्मा है दिल लुटाने का. सलमान के पास जो दिल था वो इंसानियत की भलाई से जुड़ा तो सोने का हो गया. इंसानियत के लिए अभी तो सलमान ने सिर्फ मजदूरी की है. सलमान ने ज़रूरत मंदों के लिए अभी अभी तो सिर्फ दिल का दरवाजा खोला है और सलमान सोने चांदी के हो गये. पता नहीं क्या होगा जब सलमान तन, मन और धन सब लुटाने पर आमदा हो जाएगे.

सलमान के दौलत मंद बनने की कहानी नंबर दो
ये वो कहानी है जिसमें सलमान के दौलतमंद बनने और दिलीपकुमार के दिवाला निकलने की दास्तां है. ये बात उन दिनों की है जब सलमान खान अपनी फिल्म मैंने प्यार किया के ऑडिशन के लिए जा रहे थे. यही से शुरू होती है सलमान खान के दौलतमंद बनने की कहानी. पहले ऑडिशन के लिए जाते वक्त सलमान खान की मुलाकात हो गई दिलीप कुमार साहब से. दिलीप कुमार ने सलमान खान को एक पर्स और एक रुपये का सिक्का दिया और कहा जाओ दौलत कमाओ. बस उसके बाद दौलत का दरिया सलमान के दर पर था. उपहार मे दिया दिलीप कुमार का वो पर्स वाकई जादुई था. सलमान ने उसे एक पल के लिए भी अपने से अलग नहीं किया लेकिन सालों के बाद जब वो पर्स फट गया तो सलमान फिर दिलीप साहब के पास गये तो दिलीप कुमार ने हाथ खड़े कर दिये और कहां जीने के लिए मुझे भी कुछ दौलत की ज़रूरत है. {mospagebreak}

सलमान के दौलतमंद बनने की कहानी नंबर तीन
दिलीप कुमार ने सलमान खान को जो लकी सिक्का दिया था. सलमान ने उसे एक भिखारी को तरस खाकर दे दिया. भिखारी को सिक्का देते वक्त सलमान का दिल देखिए. सलमान की सोच ये थी कि जिस सिक्के ने उनकी तकदीर बदल दी वो शायद वो सिक्का इस भिखारी की तकदीर को भी पलट दे. लगता है भगवान सलमान के दिल का इम्तिहान ले रहा था. उस दौर में सलमान की फिल्में पिट रही थी भिखारी ने ये कह कर सलमान को सिक्का लौटा दिया कि इस वक्त इस सिक्के की ज़रूरत मुझसे ज्यादा आपको है. ये सलमान की दरियादिली नहीं तो और क्या है अपनी सबसे प्यारी चीज को लुटाने पर भी वो आमदा रहे. सलमान के पास दिल की दौलत है शायद इसी लिए तकदीर ने उन्हें दौलतमंद बनाने में कोई कमी नहीं.

सलमान के दौलतमंद बनने की कहानी नंबर चार
सलमान खान को जब चांदी की सिल्लियों से तोला जा रहा था सलमान खान, जब ज़रूरतमंदों की भलाई से जुड़ी अपनी संस्था बीइंग ह्यूमन की कमाई के लिए सोने के सिक्के जारी कर रहे थे तो उनके दोनों भाई और दोनों बहनें उनके साथ थी. ये परिवार ही सलमान की ताकत है. परिवार से प्यार करना सलमान को अपने माता पिता से विरासत में मिला लेकिन सलमान को अपने पिता सलीम से विरासत में जो बड़ा दिल मिला उसने उन्हें बना दिया बड़ा दिल वाला दौलतमंद.

सलमान के दौलतमंद बनने की कहानी नंबर पांच
ये कहानी उस दिन की है जब सलमान बहुत छोटे बच्चे थे. वो दीवाली का दिन था. सारी दुनिया पटाखे छोड़ रही थी तो सलमान खान अपने पिता के पर्स से पैसे निकाल निकाल कर जला रहे थे. सलमान की ये पांच कहानियां काफी है ये समझने के लिए क्यों है सलमान के पास इतनी दौलत. अगर सलमान की ये पांचों कहानियां सच्ची है तो यकीन मानिए सलमान के दिल सामने उनकी ये दौलत फिर भी बहुत कम है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें