scorecardresearch
 

अक्षय कुमार की 'सिंह इज ब्लिंग' पर भड़का अकाल तख्त का गुस्सा

मिस्टर खिलाड़ी अक्षय कुमार की आने वाली फिल्म 'सिंह इज ब्लिंग' न सिर्फ सुर्खियों में है बल्कि विवादों में भी घिर चुकी है.

फिल्म 'सिंह इज ब्लिंग' पोस्टर फिल्म 'सिंह इज ब्लिंग' पोस्टर

मिस्टर खिलाड़ी अक्षय कुमार की आने वाली फिल्म 'सिंह इज ब्लिंग' न सिर्फ सुर्खियों में है बल्कि विवादों में भी घिर चुकी है.

अकाल तख्त ने फिल्म के डायरेक्टर और प्रोड्यूसर से मांग की है कि वो ऐसे आपत्तिजनक सीन्स और डायलॉग को फिल्म से काटें जिनसे सिख धर्म का अपवित्रीकरण हो रहा है. इससे पहले 'नानक शाह फकीर', 'सिंह साब द ग्रेट' और 'सन ऑफ सरदार' जैसी फिल्मों को भी सिख सम्प्रदाय के गुस्से और आक्रोश का सामना करना पड़ा था.

'सिंह इज ब्लिंग' इसी साल 2 अक्टूबर को रिलीज होगी. लेकिन 19 अगस्त को जब फिल्म का ट्रेलर लॉन्च हुआ, तो सिख समुदाय के कुछ लोगों ने इसके डायलॉग पर आपत्ति जताना शुरु कर दी. फिल्म के एक डायलॉग में कहा गया है कि चिकन, व्हिस्की, कबड्डी, भांगड़ा और गोल्डन टेम्पल पंजाब के 5 मुख्य आकर्षण हैं. इस डायलॉग की सर्वोच्च सिख अथॉरिटी श्री अकाल तख्त ने आलोचना की और व्हिस्की या चिकन से गोल्डन टेम्पल की तुलना करने पर फिल्म के प्रोड्यूसर की निंदा भी की. उन्होंने कहा कि फिल्म रिलीज होने से पहले इस डायलॉग को फिल्म में से हटा दिया जाए.

अकाल तख्त प्रमुख ग्यानी गुरबचन सिंह के अनुसार गोल्डन टेम्पल की ऐसी तुलना के अलावा फिल्म में हाथ में पहनने वाले कड़े का भी गलत तरीके से इस्तेमाल किया गया है. उनका मानना है कि फिल्म के प्रोड्यूसर और डायरेक्टर को स्क्रिप्ट फाइनल करने से पहले सिख अथॉरिटीज से मिल लेना चाहिए था.

उन्होंने कहा कि एंटरटेनमेंट के नाम पर सिख धर्म की बेइज्जती करने की इजाजत किसी को नहीं है. इसके अलावा अकाल तख्त ने पंजाब सरकार से भी कहा है कि वो फिल्म का ट्रेलर दिखा रही सोशल मीडिया पर नजर रखे.

'सिंह इज ब्लिंग' एक बॉलीवुड एक्शन कॉमेडी फिल्म है जिसे प्रोड्यूस किया है ग्रेजिंग गोट पिक्चर्स ने और इसके डायरेक्टर हैं प्रभुदेवा. फिल्म में अक्षय कुमार के अलावा एमी जैक्सन, लारा दत्ता और के के मेनन भी हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें