scorecardresearch
 
मनोरंजन

मिलिए खूबसूरत आवाज की पाकिस्तानी मलिका से

मिलिए खूबसूरत आवाज की पाकिस्तानी मलिका से
  • 1/6
पाकिस्तान टेलीविजन इंडस्ट्री का अब तक का सबसे सफल सीरियल 'हमसफर' का प्रसारण भारत में शुरू हुआ है. फवाद खान और माहिरा खान स्टारर लव स्टोरी लोगों के बीच होगी. फवाद खान को लेकर भारतीय दर्शकों में एक होड़ तो मची ही है लेकिन इस सीरियल के टाइटल सॉन्ग की भी काफी चर्चा हो रही है. इस गाने को कर्तुलैन बलोच ने अपनी आवाज दी है. आइए आपको मिलवाते हैं खूबसूरत आवाज की जवां मलिका से...

कर्तुलैन बलोच की पैदाइश वर्जीनिया में हुई लेकिन 3 साल की उम्र में वो मुल्तान (पाकिस्तान) लौट आईं. उनके पिता पाकिस्तान आर्मी में सीनियर अधिकारी थे, जबकि उनकी अम्मी सुमेरा इकबाल मॉर्टगेज लोन अधिकारी थीं. बलोच के माता पिता 1996 में अलग हो गए.

मिलिए खूबसूरत आवाज की पाकिस्तानी मलिका से
  • 2/6
मुल्तान के कहकशां आर्मी पब्लिक स्कूल में पढ़ी कर्तुलैन 17 साल की उम्र में एक बार फिर अमेरिका लौट गईं. जहां उन्होंने आईटी में ग्रेजुएशन किया.
मिलिए खूबसूरत आवाज की पाकिस्तानी मलिका से
  • 3/6
2011 में कर्तुलैन ने कवर सॉन्ग 'अंखियां नूं रेन दे..' से अपने करियर की शुरुआत की. यह गाना जबरदस्त हिट रहा. दिलचस्प है कि कर्तुलैन ने क्लासिकल संगीत में कोई ट्रेनिंग नहीं ली है.
मिलिए खूबसूरत आवाज की पाकिस्तानी मलिका से
  • 4/6
कर्तुलैन सूफी संगीतकारों जैसे नुसरत फतेह अली खान, आबिदा परवीन और खास तौर पर रेशमा से बेहद प्रभावित हैं.
मिलिए खूबसूरत आवाज की पाकिस्तानी मलिका से
  • 5/6
2011 में कर्तुलैन ने टेलीविजन सीरियल 'वो मेरा हमसफर था' के लिए टाइटल सॉन्ग गाया. 2010 में इस गाने को लक्स स्टाइल अवॉर्ड्स में सॉन्ग ऑफ द ईयर चुना गया.
मिलिए खूबसूरत आवाज की पाकिस्तानी मलिका से
  • 6/6
कोक स्टूडियो में जल बैंड के साथ रिकॉर्ड किए गए गाने 'पंछी..' ने कर्तुलैन को शोहरत की बुलंदियों पर पहुंचा दिया. मुख्य तौर पर पॉप, प्रोग्रेसिव रॉक, लोक संगीत और शास्त्रीय संगीत को कर्तुलैन ने अपनी आवाज दी है.