scorecardresearch
 
मनोरंजन

पद्मावती का जनवरी में रिलीज होना भंसाली के लिए फायदेमंद

पद्मावती का जनवरी में रिलीज होना भंसाली के लिए फायदेमंद
  • 1/6
दिसंबर को रिलीज होने जार रही पद्मावती की रिलीज डेट देश में फिल्म को लेकर हो रहे विरोध के चलते टाल दी गई है. मेकर्स के इस फैसले से फैन्स को बेहद दुख तो हुआ ही है लेकिन इस फैसले  के बाद सवाल ये उठता है कि अब फिल्म रिलीज कब होगी. हालां‍कि मेकर्स ने जल्द ही इस फिल्म की बदली हुई रिलीज डेट ऐलान करने की घोषणा की है लेकिन इन पांच कराणों से रिलीज टालना  भंसाली के लिए फायदेमंद हो सकता है.
पद्मावती का जनवरी में रिलीज होना भंसाली के लिए फायदेमंद
  • 2/6
1. गुजरात चुनाव के बाद ठंडा होगा मामला
अभी गुजरात में चुनाव चल रहा है. इसके कारण राजस्थान, मध्य प्रदेश से सटे इलाकों में भी यह विवाद तेजी से फैल रहा है. गुजरात विधानसभा चुनाव का रिजल्ट 18 दिसंबर को आ जाएगा, इसके बाद हो सकता है कि काफी हद तक इस मामले में राजनीतिक पार्टियों की दिलचस्पी कम हो जाए. अभी बीजेपी, कांग्रेस दोनों पार्टियां इस मुद्दे पर अपने बड़े वोट बैंक यानी राजपूतों को नाराज नहीं करना चाहती.
पद्मावती का जनवरी में रिलीज होना भंसाली के लिए फायदेमंद
  • 3/6
2. जोधा-अकबर के निर्देशक से सीख ले सकते हैं भंसाली
जोधा-अकबर के रिलीज के वक्त भी राजस्थान में विवाद हुआ था. राजपूत समुदाय के लोगों ने फिल्म पर आपत्ति जताई थी. तथ्यों और ऐतिहासिक घटनाओं से छेड़छाड़ का आरोप लगाया था. 2008 में फिल्म के दौरान राजस्थान और गुजरात में फिल्म के रिलीज पर रोक तक लगाने की नौबत आ गई थी. उस वक्त भी राजपूत सभा ने विरोध किया था. जोधा-अकबर के रिश्तों पर सवाल खड़ा किया गया था. उस दौरान भी राजपूत करणी सेना ने भी निर्देशक आशुतोष गोवारीकर को निशाना बनाया था. आखिरकार फिल्म राजस्थान में रिलीज नहीं हो पाई थी. ऐसे में भंसाली भी मामला शांत होने का इंतजार कर फिल्म रिलीज कर सकते हैं.
पद्मावती का जनवरी में रिलीज होना भंसाली के लिए फायदेमंद
  • 4/6
3. क्रिसमस के बाद खाली रहेगा बॉक्स ऑफिस

क्रिसमस और न्यू ईयर पर बॉलीवुड में कई फिल्में रिलीज होने वाली हैं. ऐसे में अगर भंसाली जनवरी 2018 का इंतजार कर सकते हैं तो फायदे में रह सकते हैं. जनवरी में कोई बड़ी फिल्म पहले से रिलीज के लिए शेड्यूल नहीं है. क्योंकि 15 दिसंबर को फुकरे रिटर्न्स आ रही है. इसके बाद 22 दिसंबर को सलमान खान और कैटरीना कैफ की टाइगर जिंदा है रिलीज होनी है. ऐसे में इस दौरान तो भंसाली को फिल्म रिलीज करने का मौका नहीं मिलेगा. वो सलमान के साथ नहीं टकराना चाहेंगे. वहीं, जनवरी 25 को अक्षय कुमार की पैडमैन रिलीज होने को है. उससे पहले किसी भी बड़े स्टार की फिल्म लाइन में नहीं है. बीच की तारीखों का भंसाली फायदा उठा सकते हैं.
पद्मावती का जनवरी में रिलीज होना भंसाली के लिए फायदेमंद
  • 5/6
4. बीमा करा चुके हैं भंसाली, नहीं होगा घाटा संजय लीला भंसाली पहले ही इस फिल्म का बीमा करा चुके हैं. फिल्म से होने वाले नुकसान से भयभीत हैं. बॉम्बे टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, फिल्म का बीमा कराया गया है. एक यूनिट मेंबर के अनुसार, ये कुल 160 करोड़ रुपए का है. इस बीमा पॉलिसी के तहत यदि पद्मावती की रिलीज के बाद टिकट बिक्री के दौरान विरोध होता है, या कोई विवाद, हड़ताल और तोड़फोड़ होती है तो नुकसान की भरपाई की जाएगी.  दूसरी बात ये अगर फिल्म दिसंबर में रिलीज होती तो मामला गर्म होने से नुकसान अधि‍क होने की पूरी उम्मीद थी लेकिन अगर जनवरी में फिल्म को रिलीज किया जाता है तो हालात यकीनन बदले हुए हो सकते हैं.
पद्मावती का जनवरी में रिलीज होना भंसाली के लिए फायदेमंद
  • 6/6
5. माहौल ठंडा होने का इंतजार
फिल्म को लेकर फिलहाल माहौल गर्म है. अब जब फिल्म की रिलीज को लेकर रिलीज टलने का फैसले आ गया है तो जाहिर सी बात है विरोधी शांत हो गए हैं. माहौल ठंडा होते ही भंसाली और फिल्म मेकर्स को इसे रिलीज करने का कोई सेफ रास्ता खोजने का वक्त भी मिल जाएगा.