scorecardresearch
 
एंटरटेनमेंट न्यूज़

Porn erotica difference: पोर्न को लेकर फंसे राज कुंद्रा, जानें- पोर्नोग्राफी और इरॉटिका कितना अलग?

porn erotic difference
  • 1/11

बॉलीवुड एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा (Raj Kundra) को मुंबई पुलिस ने पोर्न फिल्में बनाने (Pornography Case) के आरोप में अरेस्ट कर लिया है. वहीं एडल्ट फिल्मों को लेकर पहले गिरफ्तार हो चुकीं गहना वशिष्ठ ने राज कुंद्रा मामले पर कहा- 'लोग जिस तरह से पोर्न कंटेंट की बातें कर रहे हैं, कोई भी फिल्म पोर्न नहीं है. ये काफी बोल्ड और इरॉटिका (Erotica) फिल्म्स हैं. जो पोर्न की कैटेगरी में नहीं आती हैं.' दूसरी ओर, सोशल मीडिया पर भी इरॉटिका और पोर्नोग्राफी को लेकर बहस हो रही है. आइए समझते हैं दोनों में क्या अंतर है?

(सांकेतिक फोटो/ क्रेडिट- Getty Images)

porn erotic difference
  • 2/11

इस मसले पर अमेरिकी फिल्म निर्माता लुसी फिशर (Lucy Fisher), जिन्हें एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में महिलाओं और कामकाजी माताओं में अग्रणी माना जाता है, ने एक बार अहम टिप्पणी की थी. उन्होंने कहा था कि "इरॉटिका हमारे जैसे अच्छे मध्यम वर्ग के साक्षर लोगों के लिए है, जबकि पोर्नोग्राफी एकाकी, अनाकर्षक और अशिक्षित लोगों के लिए है."

(फोटो- शिल्पा और राज कुंद्रा) 

porn erotic difference
  • 3/11

डिक्शनरी के मुताबिक, वो किताबें, पत्रिकाएं, फिल्में, आदि जो बिना किसी कलात्मक मूल्य के यौन कृत्यों या नग्न लोगों का वर्णन या प्रदर्शन इस तरह से करती हैं जो यौन रूप से रोमांचक हो, उसे Pornography की श्रेणी में रख सकते हैं. वहीं वे किताबें, चित्र, आदि जो यौन इच्छा और आनंद उत्पन्न करते हैं, लेकिन उनमें पोर्नोग्राफ़ी न हो उसे Erotica की श्रेणी में रख सकते हैं. 

(सांकेतिक/ Getty Images) 

porn erotic difference
  • 4/11

हममें से उन लोगों के लिए जिन्होंने कभी इस तथ्य पर विचार नहीं किया कि पोर्न और इरॉटिका अलग हैं, लुसी फिशर की टिप्पणी पर आश्चर्य होगा. बहुत कम लोगों ने कभी इरॉटिका और पोर्न के बारे में अलग-अलग संस्थाओं के रूप में सोचा है. दोनों हमेशा हमारे दिमाग में एक-दूसरे को ओवरलैप करते रहे हैं. 

(फोटो क्रेडिट- Getty Images) 

porn erotic difference
  • 5/11

इरॉटिका कोई भी कलात्मक वर्क है जो कामुक रूप से उत्तेजक या यौन उत्तेजना वाले विषय से काफी हद तक संबंधित है. जैसे पेंटिंग, मूर्तिकला, फोटोग्राफी, नाटक, फिल्म, संगीत या साहित्य सहित सभी प्रकार की कला जो कामुक सामग्री को चित्रित या प्रदर्शित कर सकती है. इरॉटिका से अच्छी क्वालिटी के आर्ट की आकांक्षा की जाती है, जो इसे व्यावसायिक पोर्नोग्राफी से अलग करती है.

(फोटो क्रेडिट- Getty Images)  
 

porn erotic difference
  • 6/11

दूसरी ओर, पोर्नोग्राफी को एक क्रिएटिव एक्टिविटी जैसे- लेखन, चित्र, फिल्म, आदि के रूप में दिखाया जा सकता है, जिनका यौन इच्छा को प्रोत्साहित करने के अलावा कोई साहित्यिक या कलात्मक उद्देश्य नहीं है. 

(फोटो क्रेडिट- Getty Images)  

porn erotic difference
  • 7/11

इस मुद्दे पर रिटायर्ड अमेरिकी ​​​​मनोवैज्ञानिक लियोन एफ सेल्ज़र (Leon F. Seltzer) ने 2011 के एक लेख में इरॉटिका और पोर्नोग्राफ़ी को अलग करते हुए लिखा था, "यदि किसी काम को कामुक (Erotically) रूप से किया गया है, तो आमतौर पर यह माना जाता है कि उसने विषय वस्तु को सराहा है. आनंद लेने, जश्न मनाने, बड़ा करने, ग्लोरीफाई करने के लिए कुछ."

(फोटो क्रेडिट- Getty Images)  

porn erotic difference
  • 8/11

वह आगे कहते हैं, "पोर्नोग्राफ़ी के विपरीत, यह विशेष रूप से कामुक डिमांड नहीं करता है." लियोन के मुताबिक, "आखिरकार जो काम की कामुकता को निर्धारित करता है वह यह है कि कलाकार (या, उस मामले के लिए, लेखक या संगीतकार) अपने विषय को कैसे प्राप्त करता है."

(फोटो क्रेडिट- Getty Images)  

porn erotic difference
  • 9/11

इस बीच पोर्नोग्राफी का एक मात्र मकसद दर्शक को एक्टिव करना होता है. पोर्नोग्राफर का उद्देश्य अपने दर्शकों को मानवीय रूप में आनंदित करने में मदद करना है. इस प्रकार, पोर्नोग्राफी का एकमात्र उद्देश्य तत्काल और तीव्र उत्तेजना है. 

(फोटो क्रेडिट- Getty Images)  

porn erotic difference
  • 10/11

सवाल उठता है कि क्या इरॉटिका का अंत पोर्न के समान प्रभाव जैसे नहीं हो सकता है? इसका जवाब न है. इरॉटिका के पीछे का विचार यौन आनंद और कामुक मिलन की इच्छा का जश्न मनाना है. यह पुराना नहीं होगा या समय के साथ बेमजा भी नहीं होगा. जैसा कि आमतौर पर अश्लील चित्र होते हैं. आखिर हममें से कितने लोग उसी अश्लील वीडियो को बार-बार देखते हैं, जो हमने पांच साल पहले देखा था?

(फोटो क्रेडिट- Getty Images)  

porn erotic difference
  • 11/11

इसके अलावा, पोर्नोग्राफ़ी मुख्य रूप से एक पैसा कमाने वाला उपक्रम है, जो हमेशा इरॉटिका के मामले में नहीं होता है. साथ ही, पोर्न के बारे में एक मुद्दा जिसे नारीवादी लंबे समय से आवाज दे रहे हैं, वह यह है कि पोर्नोग्राफी, महिलाओं को ऑब्जेक्टिफाई करके, उन्हें यौन वस्तुओं तक सीमित कर देती है, जिसका मूल मूल्य पुरुष की वासना की जरूरतों को पूरा करना है. 

(फोटो क्रेडिट- Getty Images)