scorecardresearch
 

Movie Review: सॉलिड 'फैन' की कमजोर फिल्म

शाहरुख खान पिछले काफी समय से किरदारों को लेकर अपनी पसंद की वजह से आलोचनाओं में रहे हैं. इसी जुगत में वे बतौर एक कलाकार अपना लोहा दोबारा से सिद्ध करने में लगे हैं. जानें कैसी है 'फैन'...

रेटिंगः 2.5 स्टार
डायरेक्टरः मनीष शर्मा
कलाकारः शाहरुख खान

शाहरुख खान पिछले काफी समय से किरदारों को लेकर अपनी पसंद की वजह से आलोचनाओं में रहे हैं. इसी जुगत में वे बतौर एक कलाकार अपना लोहा दोबारा से सिद्ध करने में लगे हैं. वैसे भी पिछली फिल्में उनकी मल्टीस्टार कास्ट वाली थी. इस बार शाहरुख ने कुछ हटकर करने का फैसला किया था और फिल्म में सिर्फ शाहरुख खान ही नजर आए. विलेन भी शाहरुख, हीरो भी शाहरुख, फैन भी शाहरुख और सुपरस्टार भी शाहरुख. लेकिन फिल्म देखकर जो बात मन में आई वह यही थी कि फिल्म समझ तो आई लेकिन दिल में नहीं आई. मनीष शर्मा ने विषय अच्छा चुना, पहला हाफ भी मजेदार रहा लेकिन वे वैसा बिल्डअप नहीं कर सके जैसा इस तरह की थ्रिलर के लिए किया जाता है. फिर जो डर नजर आना चाहिए था या जो दहशत शाहरुख की पहली फिल्मों में दिखी थी चाहे वह 'बाजीगर' हो या फिर 'डर' वह इसमें पूरी तरह नदारद है. कुल मिलाकर यह एक औसत फिल्म बनकर रह जाती है, जिसमें कुछ भी अप्रत्याशित नहीं होता और सब कुछ बहुत ही स्वाभाविक है. लेकिन फिल्म थ्रिलर कहना बिल्कुल ही गलत होगा.

कहानी में कितना दम
दिल्ली का एक लड़का गौरव (शाहरुख खान) है जो साइबर शॉप चलाता है. वह आर्यन खन्ना (शाहरुख खान ) का बहुत बड़ा फैन है. उसको अपने में पूरी तरह उतार चुका है और उसमें पूरी तरह से उतर चुका है. वह इस सुपरस्टार को जीता है. लेकिन जब उसका जुनून पागलपन में तब्दील हो जाता है तो वह सुपरस्टार के लिए तो मुश्किलें पैदा करता ही है, बल्कि दोनों के जीवन में तूफान ला देता है. डायरेक्टर ने कहानी को पहले हाफ में बहुत अच्छा रखा है. जहां तक गौरव की बात है तो उसकी जिंदगी जोड़ने का काम करती है. लेकिन इंटरवेल के बाद आकर जब एक्शन शुरू होता है तो फिल्म उस तरह का मजा नहीं दिला पाती है जिस तरह की इससे उम्मीद थी. हमेशा लगता है कि कुछ हटकर होगा लेकिन अंत होने तक सारे अनुमान सही बैठते हैं, जिसमें थ्रिलर का कोई मजा नहीं आता.  

स्टार अपील
फिल्म में हर जगह शाहरुख ही शाहरुख हैं. शाहरुख की पिछली फिल्मों में जहां उन्हें कई लोगों की भीड़ में देखा गया था, इस बार वे इस कमी को पूरा करते नजर आते हैं. गौरव हो या फिर आर्यन हर जगह शाहरुख खान ही है. गौरव के किरदार में उनके दिल्ली वाला बोलने का स्टाइल तो कमाल है ही, उनकी एक्टिंग भी कमाल है. लेकिन एक बात मजेदार यह कि फैन का गौरव काफी हद तक 'तनु वेड्स मनु रिटर्न्स' की 'दत्तो' जैसा भी लगता है. यह बात थोड़ी अजीब है. फिल्म में बाकी कोई सितारा है नहीं, हीरोइन है नहीं और गाना है नहीं, यह अच्छी बात है. शाहरुख अपने हर किरदार में अच्छे लगते हैं. 

कमाई की बात
शाहरुख खान की फिल्म हो तो जाहिर-सी बात है कि फिल्म का बजट कम नहीं होगा. अगर सूत्रों पर यकीन करें तो फिल्म का बजट लगभग 80 करोड़ रु. से ऊपर बताया जाता है. अगर यह आंकड़ा सही हो तो फिल्म को जबरदस्त जुगत लगानी होगी हिट होने के लिए. फिल्म के पहले दिन पहले शो में अच्छा रिस्पॉन्स था. शाहरुख खान के 'फैन' अच्छी संख्या में आए थे, लेकिन बाहर आते समय उनकी जुबान पर यही शब्द थे कि पहला हाफ मजेदार था. आज फैन रिलीज हुई है और दिल्ली में ऑड ईवन भी लागू हुआ है. इस तरह गाड़ी वाले सिने प्रेमियों की बात करें तो उनकी संख्या आधी ही पहुंचेगी. बाकी यह फिल्म पूरी तरह से शाहरुख खान के फैन्स के लिए है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें