scorecardresearch
 

Film Reveiw: दिलचस्प कहानी, पर बोर करती है फिल्लौरी

अनुष्का शर्मा के प्रोडक्शन हाउस के बैनर तले अभी तक NH10 और 'फिल्लौरी' फिल्में बनी हैं. NH10 तो दर्शकों को काफी पसंद आई थी. आज उनके प्रोडक्शन हाउस की दूसरी फिल्म 'फिल्लौरी' रिलीज हुई है. जानते हैं कैसी है ये फिल्म:

X
अनुष्का शर्मा और दिलजीत दोसांझ अनुष्का शर्मा और दिलजीत दोसांझ

फिल्म का नाम: फिल्लौरी
डायरेक्टर: अंशाई लाल
स्टार कास्ट: अनुष्का शर्मा, सूरज शर्मा, दिलजीत दोसांझ, मेहरीन कौर पीरजादा
अवधि: 2 घंटा 17 मिनट
सर्टिफिकेट: U/A
रेटिंग: 2 स्टार

अनुष्का शर्मा के प्रोडक्शन हाउस के बैनर तले अभी तक NH10 और 'फिल्लौरी' फिल्में बनी हैं. NH10 तो दर्शकों को काफी पसंद आई थी. आज उनके प्रोडक्शन हाउस की दूसरी फिल्म 'फिल्लौरी' रिलीज हुई है. यह पंजाब के एक छोटे से गांव फिल्लौर की कहानी है, इसीलिए इस फिल्म का नाम 'फिल्लौरी' है. डायरेक्टर अंशाई लाल की डायरेक्टर के तौर पर यह पहली फिल्म है. अंशाई ने इसके पहले 'चक दे', 'प्यार के साइड इफेक्ट्स', 'हिम्मतवाला', 'हाउसफुल' और 'दोस्ताना' जैसी फिल्मों में बतौर असिस्टेंट डायरेक्टर काम किया है. जानते हैं 'फिल्लौरी' कैसी फिल्म है और यह दर्शकों को लुभा पाने में कामयाब हो पाती है या नहीं.
'फिल्लौरी' के साथ बंद हो रहा है 84 साल पुराना 'रीगल'

कहानी:
यह कहानी कनन (सूरज शर्मा) और अनु (मेहरीन पीरजादा) की शादी से शुरू होती है. कनन को मांगलिक होने की वजह से शादी से पहले एक पीपल के पेड़ से शादी करनी पड़ती है. उस पेड़ पर शशि (अनुष्का शर्मा) का भूत निवास करता है. पेड़ से शादी करने की वजह से सूरज की शादी शशि से हो जाती है और उसके बाद शशि का भूत सूरज का पीछा करने लगता है. फिर कहानी में ट्विस्ट तब आता है जब शशि अपने फ्लैश बैक के बारे में बताती है और सिंगर फिल्लौरी (दिलजीत दोसांझ) का जिक्र करती है. वह बताती है कि किस तरह से 98 साल पहले कुछ घटनाएं घटी हैं, जिसमें शशि का कोई काम अधूरा रह जाता है.

फिल्लौरी के लिए रैपर बनीं अनुष्का शर्मा

कमजोर कड़ियां:
- फिल्म में एक ही समय पर दो कहानियां चलती हैं, जिससे दर्शकों को थोड़ा कन्फ्यूजन होता है. इससे बचा जा सकता था.
- फिल्म के आखिर के 15 मिनट कुछ ज्यादा ही बोर करते हैं और जेहन में एक ही बात आती है कि आखिर फिल्म खत्म कब होगी? हालांकि यह सिर्फ 2 घंटे 17 मिनट की फिल्म है लेकिन लगती काफी बड़ी है.
- दो कहानियों के पैरलल चलने के कारण आप जब तक एक से कनेक्ट करने की कोशिश करते हैं, तब तक दूसरी आ जाती है और आप सोच में पड़ जाते हैं.
- फिल्म में आत्मा और इंसान के बीच बातचीत दिखाई गई है जो काल्पनिक तो है पर क्लाईमैक्स तक काल्पनिकता की हद भी पार हुई दिखती है.
- फिल्म के गाने भी रिलीज से पहले उतने पॉपुलर नहीं हुए, जिसकी वजह से फिल्मांकन के दौरान कुछ अच्छे तो कुछ अजीब से लगते हैं.

अनुष्का की वजह से करण और ऐश्वर्या की दोस्ती में आई दरार!

जानिए आखिर फिल्म को क्यों देख सकते हैं:
दिलजीत दोसांझ, सूरज शर्मा की एक्टिंग के लिए आप एक बार फिल्म जरूर देख सकते हैं. अनुष्का शर्मा ने पंजाबी लड़की के साथ साथ भूत के किरदार में सहज काम किया है. साथ ही बाकी कास्टिंग भी बेहतरीन है. फिल्म का वीएफएक्स बहुत बढ़िया है. साथ ही डायरेक्शन के हिसाब से भी फिल्म अच्छी है. आर्ट वर्क भी कमाल का है.

बॉक्स ऑफिस:
फिल्म का बजट लगभग 21 करोड़ रुपये है, जिसमें से 12 करोड़ रुपये अभी तक सैटेलाइट और डिजिटल राइट्स के द्वारा आ चुके हैं. अनुष्का प्रोड्यूसर के तौर पर फूंक-फूंक के कदम रखने के लिए भी जानी जाने लगी हैं. अगर फिल्म 30 करोड़ कमाती है तो कॉस्ट रिकवर हो जाएगी. 35 करोड़ पर हिट और करोड़ कमाने पर सुपर हिट कहलाएगी. प्रोड्यूसर होने के नाते अनुष्का ने अपनी फीस नहीं ली है. फिल्म को लगभग 1500 स्क्रीन्स में रिलीज करने की बात कही जा रही है और लगभग 25% की ओपनिंग की अटकलें लगाई जा रही हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें