scorecardresearch
 

कंगना का उद्धव पर निशाना- जिन्हें किया एक्सपोज, उनके साथ घूमता है बेटा आदित्य

कंगना ने ट्वीट करते हुए कहा- महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री की बेसिक समस्या ये है कि मैंने आखिर क्यों मूवी माफिया, सुशांत सिंह राजपूत के हत्यारों और उनके ड्रग रैकेट को एक्सपोज किया. वे मुझे फिक्स करना चाहते हैं. ओके आप कोशिश कीजिए.

कंगना रनौत सोर्स इंस्टाग्राम कंगना रनौत सोर्स इंस्टाग्राम

कंगना रनौत और महाराष्ट्र सरकार के बीच तनातनी खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं. कंगना बॉलीवुड की उन चुनिंदा सितारों में से हैं जो शिवसेना पार्टी के खिलाफ खुल कर अपने विचार रख रही हैं. कई सोशल मीडिया यूजर्स का ये भी मानना है कि कंगना को कहीं ना कहीं राजनीतिक संरक्षण भी प्राप्त है इसलिए वे अपने ऊपर आती कठिनाईयों के बावजूद लगातार महाराष्ट्र सरकार पर निशाना साध रही हैं. गौरतलब है कि कंगना की मां ने भी शिवसेना पर तीखा हमला किया है और हाल ही में उन्होंने बीजेपी पार्टी को जॉइन किया है. कंगना ने एक बार फिर महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे पर एक ट्वीट के सहारे निशाना साधा है. 

कंगना ने ट्वीट करते हुए कहा- महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री की बेसिक समस्या ये है कि मैंने आखिर क्यों मूवी माफिया, सुशांत सिंह राजपूत के हत्यारों और उनके ड्रग रैकेट को एक्सपोज किया, जिनके साथ उनका बेटा आदित्य ठाकरे घूमता-फिरता था. ये मैंने बहुत बड़ा अपराध कर दिया है और अब वे मुझे फिक्स करना चाहते हैं. ओके आप कोशिश कीजिए. देखते हैं कि कौन किसको फिक्स करता है. 

 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

Today, the Maharashtra Govt illegally broke down #KanganaRanaut’s house while she was on a flight to Mumbai, with only 24 hour notice. Completely illegal considering the Govt has banned demolitions due to Covid till September 30. This is what Fascism looks like.

A post shared by Kangana Ranaut (@kanganaranaut) on

संजय राउत के साथ ट्विटर वॉर के बाद कंगना के ऑफिस पर बीएमसी ने लिया था एक्शन

बता दें कि कंगना सुशांत सिंह राजपूत मामले में बयानबाजी करते हुए मूवी माफिया और बॉलीवुड की कई हस्तियों पर निशाना साध चुकी हैं.  हालांकि शिवसेना लीडर संजय राउत के साथ हुई बहस उन्हें भारी पड़ गई. दरअसल राउत के साथ हुई ट्विटर वॉर के दौरान कंगना ने मुंबई को असुरक्षित और पीओके बता दिया था. वही संजय ने कंगना को हरामखोर और फिर नॉटी कहा था. इसके बाद कंगना के ऑफिस में बीएमसी ने एक्शन लिया और अवैध निर्माण पर तोड़फोड़ की गई. कंगना ने इसके बाद अपने ऑफिस को राममंदिर और बीएमसी कर्मचारियों की बाबर से तुलना कर दी.

कंगना ने इसके बाद सीधे महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे पर निशाना साधा और उन्होंने ये भी कहा है कि जल्द ही ठाकरे का घमंड भी टूटेगा. बीएमसी के एक्शन के बाद मुंबई पुलिस कंगना के ड्रग्स एंगल के सिलसिले में भी जांच कर सकती है. कंगना ने एक वीडियो में कहा था कि वे ड्रग एडिक्ट थी लेकिन वे अब उन सब चीजों को पीछे छोड़ चुकी हैं. हालांकि कंगना को इस मामले में केंद्र सरकार काफी मदद कर रही है और हाल ही में उन्हें वाई श्रेणी की सिक्योरिटी भी प्रदान की गई थी.  

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें