scorecardresearch
 

स्‍कूली बच्‍चों का ड्रग्‍स लेना चिंता का विषय, जल्‍द रिपोर्ट दे केंद्र: सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने स्‍कूली बच्‍चों के ड्रग्‍स लेने पर चिंता जताते हुए कहा है कि स्‍कूली पाठ्यक्रमों में बच्‍चों को ड्रग्‍स को लेकर जागरूक बनाने वाले पाठ पढ़ाए जाएं...

सुप्रीम कोर्ट सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा है कि वह चार माह के भीतर एक नेशनल सर्वे करे और यह रिपोर्ट दे कि स्‍कूली बच्‍चे कितनी हद तक ड्रग्‍स का सेवन कर रहे हैं.

एक जनवरी से सीबीएसई के स्कूल होंगे कैशलेस

इस मौके पर उच्‍चतम न्‍यायालय ने यह निर्देश भी दिए कि जल्‍द ही बच्‍चों के पाठ्यक्रम में ऐसे पाठ जोड़े जाएं जो उन्‍हें ड्रग्‍स को लेकर जागरूक करें.

UP बोर्ड एग्‍जाम 2017 कैंसिल, जल्‍द जारी होगी नई डेटशीट

एक सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने यह सभी निर्देश दिए. उन्‍होंने कहा कि केंद्र सरकार जल्‍द ही एक नेशनल एक्‍शन प्‍लान भी तैयार करे. यह प्‍लान अधिकतम 6 माह में बन जाए और इसमें स्‍कूली बच्‍चों के ड्रग एब्‍यूज बनने से निपटने का प्‍लान हो.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें