scorecardresearch
 

...जब नरगिस को बचाने के लिए आग में कूद गए थे सुनील

रुपहला पर्दा हो या फिर सियासत की गलियां, सुनील दत्त साहब ने हर जगह कमाल कर दिखाया है. उन्हें हमारी श्रद्धांजलि.  

X
Sunil dutt Sunil dutt

हिंदी फिल्मों के एक ऐेसे कलाकार जो अपनी कला से सदा के लिए अमर हो गए. हम बात कर रहे हैं हिंदी फिल्मों के दिग्गज अभिनेता और बाद में सियासत में हाथ आजमाने वाले नेता सुनील दत्त की. अपने बेहतरीन कला से सबके दिलों से छाप छोड़ने वाले सुनील दत्त ने 25 मई 2005 को दुनिया को अलविदा कहा.

भले ही आज वह हमारे बीच ना हो लेकिन उनकी अदाकारी आज भी हम सब के दिलों में जिंदा है.

जानते है उनकी जिंदगी से जुड़ी बातें.
1. सुनीव दत्त का जन्म 6 जून 1929 पंजाब राज्य के झेलम जिला स्थित खुर्दी नामक गांव में हुआ था. उनका असली नाम बलराज दत्त था.

2. सुनील ने अपना करियर रेडियो से स्टार्ट किया था, वह radio ceylon में हिंदी के सबसे प्रसिद्ध अनाउंसर थे.

...वो जिन्होंने कभी नहीं की नौकरी, पर मजदूरों के लिए थी बुलंद आवाज

3. भले ही वह radio में काम करते थे. लेकिन एक मन में एक अभिनेता बनने की चाह भी रखते थे.

4. उन्होंने हिन्दी फिल्मों में अभिनय करने की ठानी और मुम्बई आ गये. 1955 में फिल्म "रेलवे स्टेशन" से अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की.

5. लेकिन उनके नाम के आगे स्टार का उस वक्त लगा जब साल 1957 में उनकी फिल्म 'MOTHER INDIA' रीलिज हुई. इस फिल्म ने उन्हें बॉलीवुड का फिल्म स्टार बना दिया.

6. वहीं डकैतों के जीवन पर बनी उनकी सबसे बेहतरीन फिल्म मुझे जीने दो ने वर्ष 1964 का फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार जीता.

ऑस्कर अवॉर्ड की 15 रोचक बातें

7. फिल्मों के साथ वह राजनीति में भी सक्रिय थे. मुबंई नॉर्थ वेस्ट सीट से पांच बार सांसद चुने गए.

8. बंटवारे के वक्त हिंदु- मुस्लिम दंगो में मुस्लिम दोस्त याकूब ने सुनील के पूरे परिवार को बचाया था.

9. सुनील दत्त की शादी हिंदी फिल्मों की बेहतरीन अदाकारा नरगिस से हुई. उनके दो बच्चे है संजय दत्त और प्रिया दत्त.

10. 1957 में बनी महबूब खान की फिल्म MOTHER INDIA की शूटिंग के वक्त लगी आग लग गई थी उस वक्त सुनील दत्त उन्हें बचाते हुए बुरी तरह जल गए थे. बाद में उनकी ये फिल्म ऑस्कर के लिए भी नामांकित हुई थी.

ऐसा कलाकार जिसने न्यूड तस्वीर बनाकर भी बनाई हर घर में जगह

11. फिल्म MOTHER INDIA में सुनील दत्त ने नरगिस के बेटे का किरदार निभाया था.

12. एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक नरगिस ने अपने भाई की गृहस्थी बसाने में खूब मदद की पर भाई ने नरगिस की ओर ध्यान नहीं दिया. उस वक्त नरगिस काफी तनाव में आ गई थी. जहां वह अपनी सारी बात सुनील से शेयर करना चाहती थीं, लेकिन सुनील की ओर से जवाब ना मिलने से नरगिस ने कई बार आत्महत्या करने की भी कोशिश की.

13. सुनील नरगिस को प्यार से पिया कह कर पुकारते थे.

14. MOTHER INDIA की शूटिंग के दौरान सुनील दत्त ने उनके सामने विवाह का प्रस्ताव रखा जिसे उन्होंने स्वीकार का लिया था. 11 मार्च 1958 को नरगिस ने सुनील दत्त से विवाह कर लिया और फिल्म इंडस्ट्री को अलविदा कह दिया.

15. नरगिस और सुनील का रिश्ता किसी दोस्त से कम नहीं था. जब भी सुनील बाहर जाते थे तो नरगिस के लिए साड़ियां जरूर लाते थे. पर नरगिस ने एक भी सुनिल की दी हुई साड़ी नहीं पहनी क्योंकि सुनील लाई हुई साड़ी उन्हें जंचती नहीं थी. .

16. सुनील दत्त अपने 40 साल का जीवन फिल्मों को समर्पित कर दिया. जिसके लिए उन्हें Filmfare Lifetime Achivement Award से सम्मानित किया.

17. वह आखिरी बार फिल्म 'मुन्ना भाई MBBS(2003) में नजर आए. ये फिल्म उनके बेटे संजय दत्त की थी जिसमें उन्होंने उनके पिता का किरदार निभाया.

18. सुनील दत्त की कई बेहतरीन फिल्में है जो हमेशा याद रहेंगी. जिनमें साधना (1958), सुजाता (1959), मुझे जीने दो (1963), गुमराह (1963), वक़्त (1965), खानदान (1965), पड़ोसन (1967) और हमराज़ (1967) आदि है.

19. 25 मई 2005 को मुम्बई में पाली हिल बान्द्रा स्थित बंगले में हार्ट अटैक से उनकी डेथ हो गई थी. वहीं 1981 में Hepatic Cancer से उनकी पत्नी नरगिस दत्त की डेथ हुई.

20. सुनील ने नरगिस के मृत्यु के बाद 'नरगिस दत्त मैमोरियल कैंसर फाउण्डेशन' की स्थापना की. इतना ही नहीं हर साल उनकी स्मृति में 'नरगिस अवार्ड' भी देना शुरू किया.

21.  सुनील को अपने बच्चों से बेहद लगाव था. जब उनके बेटे संजय दत्त को ड्रग्स की लत लगी तो उन्होंने संजय की इस नशे की लत को छुड़ाने के लिए जमीन आसमान एक कर दिया था. वे संजय को इलाज के लिए अमरीका में एक नशा उन्मूलन केंद्र ले गए. जहां लंबे इलाज के बाद संजय दत्त ने ड्रग्स को अलविदा कह दिया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें