scorecardresearch
 

नई शिक्षा नीति: आर्थिक तौर पर पिछड़े 10 लाख छात्रों के लिए फेलोशिप!

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2016 के मसौदे के तहत 'राष्ट्रीय फेलोशिप फंड' स्थापित करने की बात कही. करीब 10 लाख स्टूडेंट्स को मिलेगी स्कॉलरशिप...

MHRD MHRD

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2016 के मसौदे के कुछ इनपुट्स जारी करते हुए एक 'राष्ट्रीय फेलोशिप फंड' स्थापित करने की बात कही है. मंत्रालय की ओर से जारी 43 पेज के इनपुट में इस फंड से करीब 10 लाख स्टूडेंट्स को स्कॉलरशिप देने की बात कही गई है. स्कॉलरशिप छात्रों की ट्यूशन फीस, सीखने की सामग्री और रहन-सहन के खर्चों में मदद के लिए दिए जाएंगे.
इनपुट के मुताबिक इस फंड के तहत ये स्कॉलरशिप आर्थिक तौर पर कमजोर वर्ग के स्टूडेंट्स को मिलेगी. हालांकि इस फंड में सामाजिक तौर पर भी पिछड़े यानि अनुसूचित जाति/जनजाति के स्टूडेंट्स की मदद का कोई जिक्र नहीं है. इस फंड का उद्देश्य मेरिट और समानता को प्रोत्साहित करना है.

इस फंड के अलावा एक 'नेशनल टैलेंट स्कॉलरशिप स्कीम' की शुरुआत करने की बात भी कही गई है. इस स्कीम में सभी वर्गों के प्रतिभाशाली छात्रों को स्कॉलरशिप दी जाएगी. इनका चयन दसवीं क्लास के बाद राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा के जरिए किया जाएगा. शिक्षा नीति को लेकर मंत्रालय ने 31 जुलाई तक सुझाव आमंत्रित किए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें