scorecardresearch
 

PM मोदी ने कहा- श‍िक्षा नीति में शामिल हैं तीन C, जानें इनका मतलब

क्र‍िएटिवि‍टी, क्यूरोसिटी और कमिटमेंट, नई शिक्षा नीति बनाते समय इन सवालों का रखा गया सबसे ज्यादा ध्यान. यहां पढ़ें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज देश की नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर अपने विचार रख रहे हैं. जिसमें उन्होंने बताया, कैसे नई शिक्षा नीति देश के विकास के लिए लाभदायक साबित होगी. उन्होंने बताया कि भारत के लोगों को ताकतवर और सशक्त बनाने के लिए इस शिक्षा नीति में खास ध्यान दिया गया है.

पीएम मोदी ने कहा कि ये सच है कि 34 साल बाद शिक्षा नीति में बदलाव किया गया है. ऐसे में हर बारीकी और सवालों पर ध्यान दिया गया है. उन्होंने बताया कि शिक्षा नीति को नया आकार देने से पहले दो सवालों को पर गंभीर रूप से विचार किया था.

पहला सवाल था, क्या नई शिक्षा नीति भविष्य में क्र‍िएटिवि‍टी, क्यूरोसिटी और कमिटमेंट मेकिंग पर लोगों को बांध कर रख पाएगी?

दूसरा सवाल था. क्या हमारी शिक्षा व्यवस्था Empower ( सशक्तिकरण) करती है?

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ''जब नर्सरी का बच्चा भी नई तकनीक के बारे में पढ़ेगा, तो उसे भविष्य की तैयारी करने में आसानी होगी. कई दशकों से शिक्षा नीति में बदलाव नहीं हुआ था, इसलिए समाज में भेड़चाल को प्रोत्साहन मिल रहा था. कभी डॉक्टर-इंजीनियर-वकील बनाने की होड़ लगी हुई थी. अब युवा क्रिएटिव विचारों को आगे बढ़ा सकेगा, अब सिर्फ पढ़ाई नहीं बल्कि वर्किंग कल्चर को डेवलेप किया गया है.''

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें