scorecardresearch
 

मन की बात: बाढ़ के कहर से बेटियों के करिश्मे तक हर मुद्दे पर बोले PM

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज मन की बात में देश वासियों को रक्षाबंधन त्योहार की बधाई दी और यह महत्वपूर्ण आत कही...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

नरेंद्र मोदी ने 30 जुलाई को अपने मन की बात कार्यक्रम में बाढ़ प्रभावित राज्यों की बात कही और बाढ़ से होने वाले नुकसान से बचने के लिए पहले से तैयारी और पूर्व नियोजित योजनाओं पर काम करने की बात कही.

प्रधानमंत्री ने जीएसटी पर बात की. उन्होंने कहा कि इस बार जीएसटी को ढेरों चिट्ठ‍ियां आई हैं और कॉल्स आए हैं. जीएसटी के लागू होने के सिर्फ एक महीने हुए हैं और फायदे आने लगे हैं. मुझे खुशी होती है कि जब कोई गरीब कहता है कि मेरे जरूरत की चीजें सस्ती हो गई हैं.

'मन की बात' में पीएम मोदी ने दिया 'Waste को वेल्थ' मानने का मंत्र

जीएसटी ने हमारी अर्थव्यवस्था पर एक बहुत ही सकारात्मक प्रभाव और बहुत ही कम समय में उत्पन्न किया है. विश्व जरूर इस पर अध्ययन करेगा.क्योंकि इतने बड़े विशाल देश में उसे लागू करना और उसे आगे लेकर जाना अपने आप में उपलब्ध‍ि है.

जीएसटी ऐप पर आप भलीभांति जान सकते हैं कि GST के पहले जिस चीज का जितना दाम था, तो नई परिस्थिति में कितना दाम होगा.

पीएम मोदी के 'मन की बात' की खास बातें-

अगस्त में कई महत्वपूर्ण दिवस

अगस्त का महीना एतिहासिक महीना है. 1 अगस्त 1920 को असहायोग आंदोलन प्रारंभ हुआ. 9 अगस्त 1942 को भारत छोड़ो आंदोलन प्रारंभ हुआ, जिसे अगस्त क्रांति के रूप में भी जाना जाता है. 15 अगस्त 1947 को देश आजाद हुआ था.

इस साल हम भारत छोड़ों आंदोलन की 75वीं वर्षगांठ मनाने जा रहे हैं. भारत छोड़ों का नारा युसुफ ने दिया है. युवाओं को जानना चाहिए कि 9 अगस्त को भारत कौन सा दिन मनाता है. 9 अगस्त को 'भारत छोड़ो आंदोलन दिवस' मनाते हैं.

1857 से शुरू हुआ आजादी की संघर्ष साल 1942 तक देश हर पल आजादी की कोश‍िश करता रहा. 1942 से 1947 तक इन पांच साल निर्णायक वर्ष बन गए. संकल्प से सिद्धी का निर्णायक साल. करीब 70 साल बाद एक बार फिर संकल्प लें कि एक व्यक्त‍ि के नाते देश को विकसित करेंगे. एक नये भारत के निर्माण में सहयोग दें. मैं युवा साथियों को, युवा मित्रों को, आमंत्रित करता हूं कि नए भारत के निर्माण में वे innovative तरीके से योगदान के लिए आगे आएं.

संकल्प लें 2022 तक देश को नई ऊंचाई तक पहुंचाना है. इस उत्तम विचार के साथ आगे बढ़ते रहें.

15 अगस्त, देश के प्रधान सेवक के रूप में मुझे लाल क़िले से देश के साथ संवाद करने का अवसर मिलता है. 15 अगस्त के लिए आप अपने सुझाव भी मुझे भेज सकते हैं.

पर्यावरण की रक्षा के लिए मिट्टी के बने हुए ही गणेश

इस गणेश चतुर्थी पर मिट्टी के बने गणेश जी की मूर्तियां ही लाएं. इससे पर्यावरण का लाभ होगा और गरीब को आर्थ‍िक लाभ भी होगा.

 

बेटियां देश का नाम रौशन

देशवासियों को बेटियों पर नाज हो रहा है. हाल ही में वर्ल्ड कप में हमारी बेटियां फाइनल में खेलीं. पहली बार ऐसा हुआ, जब विजेता नहीं होने के बावजूद देश ने उनकी हार को भी कंधे पर उठा लिया. मैंने बेटियों को कहा कि आप मन से अपनी हार को निकाल दें, क्योंकि आप मैच जीते या नहीं, पर आपने पूरे देश के मन को जीत लिया. पूरा देश आप पर गर्व कर रहा है.

देश की बेटियां देश के लिए बहुत कुछ कर रही हैं. उनके प्रयास को सराहा जाना चाहिए.

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें