scorecardresearch
 

पी वी सिंधु के बारे में ये 10 बातें नहीं जानते होंगे आप....

पीवी सिंधु को आखिरकार वह जीत मिल ही गई, जिसकी वे हकदार थीं. सिंधु ने चाइना ओपन जीत लिया है. आखिर कौन सी बात सिंधू को भीड़ से अलग खड़ा करती है, जानिए...

PV Sindhu PV Sindhu

रियो ओलंपिक में सिल्वर मेडल और अब चाइना आेपन जीतने वाली पीवी सिंधू बहुत साधारण हैं. वे जितनी सिंपल दिखती हैं उनकी सोच भी उसी तरह की है. जानिए उनके बारे में खास बातें...

  • सिंधू का पूरा नाम है पुसरला वेंकट सिंधू. उनका जन्‍म 5 जुलाई 1995 को हैदराबाद में हुआ था.
  • सिंधू के पिता अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित खिलाड़ी हैं और वे वॉलीबाल में भारत का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं. इसके अलावा उनकी मां भी वॉलीबाल की खिलाड़ी रही हैं. जाहिर है कि सिंधू के लिए खेल भावना के अलावा खून का भी मामला है.
  • पुलेला गोपीचंद उनके कोच हैं.

पीवी सिंधू ने जीता चाइना ओपन, PM मोदी बोले- पहले सुपर सीरीज टाइटल के लिए बधाई 

  • सिंधू के घर और बैडमिंटन अकादमी में 56 किलोमीटर की दूरी है लेकिन वह हर रोज अपने निर्धारित समय पर अकादमी पहुंच जाती हैं. उनके भीतर अपने खेल को लेकर एक अजीब दीवानगी है.
  • सिंधू को पद्म श्री और बेहतरीन बैडमिंटन के लिए अर्जुन पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है.

ओलंपिक में इंडिया की हो गई चांदी, रियो में हारकर भी भारत की बेटी पीवी सिंधू ने रच दिया इतिहास

  • रियो ओलंपिक के महिला सिंगल्स बैडमिंटन मुकाबले में पीवी सिंधू सिल्वर मेडल जीतने वाली भारत की पहली महिला बैडमिंटन खिलाड़ी बनीं. इससे पहले भारत का कोई भी बैडमिंटन खिलाड़ी इस मुकाम तक नहीं पहुंच सका था.

  • गूगल ने एक बयान जारी कर कहा था, 'ओलंपिक सेमीफाइनल में विश्व की नंबर छह खिलाड़ी नोजोमी ओकुहारा को हराने के बाद सिंधू सबसे अधिक खोजे जाने वाली भारतीय खिलाड़ी हैं.'
  • 10 अगस्त 2013 में सिंधू ऐसी पहली भारतीय महिला बनीं, जिसने वर्ल्ड चैंपियनशिप्स में मेडल जीता था.
  • पी सिंधू ने आठ साल की उम्र से बैडमिंटन खेलना शुरू कर दिया था.
  • सिंधू को महेश बाबू और टॉलीवुड में प्रभास पसंद हैं. जबकि बॉलीवुड में वे रितिक रोशन को पसंद करती हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें