scorecardresearch
 

20,000 बल्ब वाले एफिल टावर को पेंट करने में लगता 60 टन पेंट

दुनिया के सबसे ऊंचे ढांचा में से एक है एफिल टावर. आज ही के दिन इसे आम लोगों के लिए खोला गया था. जानिये इससे जुड़ी कई रोचक बातें...

eiffel tower paris eiffel tower paris

पेरिस की शान और कई साल दुनिया का सबसे ऊंचा ढांचा रही एफिल टावर साल 1889 में आज ही के आम लोगों के लिए खुली थी.

एफिल टावर का कद 324 मीटर है और इसका वजन 10,000 टन है.

इस टावर में 1665 सीढ़ियां हैं. अगर आप ये सीढ़ियां चढ़ पाए तो इसके शीर्ष पर पहुंच सकते हैं. हालांकि टावर में लिफ्ट की सुविधा भी है. आप लिफ्ट की मदद से भी टॉप पर पहुंच सकते हैं.

जानिये कौन थी भारतीय सिनेमा की पहली नायिका, जिसके 4 मिनट के किसिंग सीन ने चौंकाया...

एफिल टावर हमेशा जगमगाता और चमकता रहे इसके लिए करीब 20,000 बल्ब का इस्तेमाल किया गया है.

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि एरिका ला को एफिल टावर इतना पसंद आ गया कि उन्होंने इस टावर से शादी रचा ली.

इस टावर के बारे में एक और आश्चर्यजनक बात यह है कि सर्दियां आते ही यह टावर 6 इंच सिकुड़ जाती है.

World Theatre Day: आज भी दिल्ली की हवाओं में 'सांस' लेता है थिएटर

इस टावर को पेंट करने में करीब 60 टन पेंट खर्च होता है और हर 7 साल पर इसे रिपेयर किया जाता है. रिपेयर करने के दौरान ही इसकी पेंटिंग भी की जाती है.

फ्रांसीसी क्रांति के सौ साल पूरे होने के अवसर पर इसे बनाया गया. उस समय की योजना के अनुसार इसे केवल 20 साल के लिए ही पैरिस में रहने की अनुमति दी गई थी. 1909 में समय सीमा पूरी हो जाने के बाद इसे गिरा दिया जाना था. लेकिन बीस सालों में टावर की लोकप्रियता ऐसी बढ़ी कि इसे गिराने का विचार रद्द कर दिया गया.

एक ऐसी सिंगर जो गाने से ज्यादा अपने स्टाइल से है 'फेमस'

इसकी खूबसूरती को दूखकर इसे लोग आयरन लेडी के नाम से बुलाते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें