scorecardresearch
 

Earth Day 2020: आखिर क्यों 22 अप्रैल को दुनियाभर में मनाते हैं अर्थ डे

दुनिया भर में पर्यावरण संरक्षण को समर्थन देने के लिए हर साल 22 अप्रैल को 'पृथ्वी दिवस' या 'अर्थ डे' मनाया जाता है. आइए जानें- क्या है इसकी वजह, क्यों इसी दिन मनाते हैं अर्थ डे.

प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो

दुनिया भर में पर्यावरण संरक्षण को समर्थन देने के लिए हर साल 22 अप्रैल को 'पृथ्वी दिवस' या 'अर्थ डे' मनाया जाता है. बता दें कि पृथ्वी दिवस मनाने की शुरुआत अमेरिकी सीनेटर गेलोर्ड नेल्सन (Gaylord Nelson) ने पर्यावरण की शिक्षा के प्रसार के लिए की थी.

दुनिया भर में पर्यावरण संरक्षण को समर्थन देने के लिए हर साल 22 अप्रैल को 'पृथ्वी दिवस' या 'अर्थ डे' मनाया जाता है. बता दें, पृथ्वी दिवस की स्थापना अमेरिकी सीनेटर गेलोर्ड नेल्सन (Gaylord Nelson) ने पर्यावरण की शिक्षा के रूप में की थी. सबसे पहले इस दिन को मनाने की शुरुआत सन् 1970 में हुई. जिसके बाद आज इस दिन को लगभग 195 से ज्यादा देश मनाते हैं.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

पहले पृथ्वी दिवस में इतने लोग हुए थे शामिल

22 अप्रैल 1970 को आयोजित सबसे पहले पृथ्वी दिवस में लगभग 20 मिलियन अमेरिकी लोगों ने हिस्सा लिया था. खास बात यह है कि इस आयोजन में भाग लेने के लिए हर समाज, वर्ग और क्षेत्र से लोग सामने आए थे.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

'अर्थ डे' शब्द किसने दिया था-

'पृथ्वी दिवस' या 'अर्थ डे' शब्द को लोगों के बीच सबसे पहले लाने वाले जुलियन कोनिंग (Julian Koenig) थे. साल 1969 में उन्होंने सबसे पहले इस शब्द से लोगों को अवगत करवाया. पर्यावरण संरक्षण से जुड़े इस आन्दोलन को मनाने के लिए उन्होंने अपने जन्मदिन की तारीख 22 अप्रैल को चुना. आज भी पर्यावरण-प्रेमी नदियों में फैक्ट्री का गंदा पानी डालने वाली कंपनियों को रोकने ,जहरीला कूड़ा इधर उधर फेकने पर रोक लगाने और जंगलों को काटने वाली आर्थिक गतिविधियों को रोकने के लिए लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें