scorecardresearch
 

हिंदी को बढ़ावा देने के लिए सीबीएसई ने की नई पहल

हिंदी भाषा को स्टूडेंट्स के बीच फ्रेंडली बनाने के लिए सीबीएसई ने एक नया कदम उठाया है. सीबीएसई ने स्कूलों को निर्देश जारी करते हुए राष्ट्रभाषा को सम्मान देने और उसे बढ़ावा देने की पहल शुरू की है.

Class room Class room

हिंदी भाषा को स्टूडेंट्स के बीच फ्रेंडली बनाने के लिए सीबीएसई ने एक नया कदम उठाया है. सीबीएसई ने स्कूलों को निर्देश जारी करते हुए राष्ट्रभाषा को सम्मान देने और उसे बढ़ावा देने की पहल शुरू की है.

लिहाजा अब अंग्रेजी बोलने वाले सीबीएसई स्टूडेंट्स हिंदी भाषा के महत्व को न सिर्फ समझेंगे बल्कि बोलेंगे भी. बोर्ड ने सभी स्कूलों में लैंग्वेज फेस्टिवल मनाने को कहा है, जिसके तहत शहर के विभिन्न स्कूलों में भारतीय भाषाओं पर आधारित कई तरह की प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएंगी.

इसी के मद्देनजर सीबीएसई ने स्कूलों को निर्देश जारी किया है कि अंग्रेजी की तरह ही हिंदी पर भी विशेष जोर दिया जाए. अधिकतर सीबीएसई स्कूलों में अंग्रेजी का माहौल होता है, लिहाजा स्‍टूडेंट्स अंग्रेजी बोलने और लिखने में काबिल हो जाते हैं लेकिन हिंदी में उनकी जानकारी कमजोर ही रहती है.

इतना ही नहीं बल्कि बोर्ड की ओर से जारी सर्कुलर में अब सीबीएसई स्टूडेंट्स को स्कूलों में हर माह हिंदी के एग्‍जाम भी देने होंगे . बच्चों की हिंदी में कितनी प्रोग्रेस हुई इसकी रिपोर्ट स्कूल्स बोर्ड को भी देंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें