scorecardresearch
 

55 वरिष्‍ठ नागरिकों ने लिया पीएचडी में दाखिला

पढ़ने की कोई उम्र नहीं होती, इस बात को सावित्रीबाई फुले यूनिवर्सिटी से पीएचडी कर रहे एक्‍सपर्ट टाउन प्‍लानर रामचंद्रन ने साबित दिया है.

X
education education

74 साल के रामचंद्र गोहाड़ उन 55 वरिष्‍ठ नागरिकों में शामिल हैं जिन्‍होंने इस साल डॉक्‍टरेट करने के लिया दाखिला लिया है.

वरिष्‍ठ नागरिकों को पीएचडी करने के लिए प्रोत्‍साहित करने के मकसद से एसपीपीयू ने 2013 में घोषणा की थी कि 60 साल से ज्‍यादा आयु के और उन लोगों को प्रवेश परीक्षा से छूट दी जाएगी जिन लोगों ने पोस्‍ट ग्रेजुएशन पूरा कर लिया है.

30 सालों तक टाउन प्‍लानर की फील्‍ड में काम कर चुके रामचंद्र का कहना है कि पीएचडी करने का उद्देश्‍य अपने अनुभव को साझा करना है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें