scorecardresearch
 

डीपीएस स्टूडेंट ने बनाया ये खास ऐप, सीधे करें करोबारियों से बात

DPS स्कूल की 12 वीं की छात्रा ने बनाया एक ऐसा ऐप जिससे छात्र सीधे उद्यमियों से जुड़ पाएंगे. जाने कैसे काम करता है ये ऐप...

12 वीं की छात्रा ने बनाया ऐप 12 वीं की छात्रा ने बनाया ऐप

दिल्ली के डीपीएस स्कूल की 12 वीं की छात्रा भार्गवी गोयल ने एक ऐसा ऐप बनाया जिससे छात्र सीधे उद्यमियों से जुड़ पाएंगे.

 

दिल्ली की ही रहने वाली भार्गवी ने ऐप का नाम ग्लोरिफायर- गिव फायर टू ड्रीम्स रखा है. इस ऐप को गुरूग्राम स्थित इंटरप्रेन्योरशिप स्कूल ने अपने इनक्यूबेशन प्रोग्राम मे शामिल कर लिया है.

'मेमोरी गर्ल' प्रेरणा से सीखिए चुटकियों में याद करना...

 

कैसे आया विचार:
एक एजेंसी से बातचीत के दौरान भार्गवी ने बताया कि वो उनके ही स्कूल के बाकी छात्र भी तरह-तरह के ऐप बनाते हैं पर उन्हें ये समझ नहीं आता कि कैसे उद्यमियों तक पहुंचा जाए. इसी से ऐप को बनाने का ख्याल आया.

ICAI CA की टॉपर इति का कोई सानी नहीं...

कैसे काम करता है ऐप:
भार्गवी ने बताया कि ये एक प्लैटफार्म की तरह काम करता है जहां ऐप डेवलप करने वाले अपने प्रोजेक्ट को अपलोड करके दूसरों से उसके बारे में चर्चा कर सकते हैं. आप चाहें तो अपनी टीम चुन कर काम कर सकते हैं.

ऐप से छात्र अपने मेंटर्स भी चुन सकते हैं, जो ऐप को तैयार करने और उसकी खामियों को दूर करने में छात्रों की मदद कर सकते हैं. इस ऐप में विज्ञान, सामाजिक विज्ञान, इंजीनियरिंग, पेंटिंग, फोटोग्राफी, स्कल्पचर, चैरिटी कार्य, साफ्टवेयर डेवलपनमेंट जैसी बहुत सी कैटेगरी हैं जिसमें से छात्र अपने मनपसंद कैटेगरी को चुन सकते हैं और उन पर काम शुरू कर सकते हैं.

पसंद की कैटेगरी को चुनने के बाद कैटेगरी से जुड़े प्रोजेक्ट आपको वहां दिखेंगे, अगर आप किसी टीम में शामिल होना चाहें तो टीम लीडर से संपर्क भी कर सकते हैं और टीम में शामिल भी हो सकते हैं. इसी तरह अगर आपके प्रोजेक्ट को टीम या मेंटर की जरूरत है तो वह भी आप से जुड़ सकते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें