scorecardresearch
 

BPSC Topper: सॉफ्टवेयर की नौकरी छोड़ सपना साकार करने में जुटे, दूसरे प्रयास में 7वीं रैंक

टॉपर आलोक ने कहा कि आज मेरे दादा जी का सपना साकार हुआ है. वो बीपीएसी टॉप करने के बाद आगे आईएएस बनकर समाज सेवा करने का लक्ष्य बना रहे हैं.

BPSC में 7वीं रैंक प्राप्त करने वाले आलोक कुमार BPSC में 7वीं रैंक प्राप्त करने वाले आलोक कुमार

बिहार पब्लिक सर्विस कमिशन का फाइनल रिजल्ट की घोषणा हो गई. इसमें आरा के होनहार युवा आलोक कुमार ने पूरे बिहार में 7वां स्थान हासिल क‍िया है. बीपीएसी टॉपर आलोक कुमार ने हर प्रसाद दास जैन स्कूल से साल 2002 में मैट्रिक की परीक्षा पास की. 

फिर इंटर कक्षा की पढ़ाई भी आरा के जैन कॉलेज से ही की. इसके बाद आलोक आईआईटी बीएचयू में पोस्ट ग्रेजुएशन किया. इसके बाद पांच साल तक सॉफ्टवेयर कंपनी में जॉब भी किया. फिर अपना सपना साकार करने के लिए आलोक ने जॉब छोड़कर सिविल सर्विसेज की तैयारी में लग गए और दूसरे ही बार में बीपीएससी में 7वीं रैंक लाकर अपने लक्ष्य को पूरा किया है. 

अभी भी आलोक निरंतर पढ़ाई जारी रखे हुए हैं और वो UPSC निकालकर देश और सामाज की सेवा करना चाहते हैं. बीपीएससी परीक्षा का परिणाम आते ही आलोक के घर बधाई देने वाले लोगो का तांता लग गया है. आलोक फिलहाल दिल्ली में अपनी पत्नी श्वेता मोर्या के साथ हैं और साथ में यूपीएससी की वहीं तैयारी कर रहे हैं. Aajtak से आलोक कुमार ने फोन पर इस सफलता की जानकारी देते हुए बताया कि इस परिणाम के पीछे उनके परिवार का काफी योगदान रहा है. 

आलोक ने आगे पढ़ाई जारी रखते हुए यूपीएससी निकाल आईएएस बनने का सपना पाल रखा है जिसे वो पूरा करने की कोशिश में दिन रात मेहनत कर रहे हैं. आलोक एक मध्यमवर्गीय परिवार से हैं, जिनके पिता अनि‍ल कुमार अग्रवाल पेशे से दुकानदार हैं. आलोक के पिता अनिल स्टेशनरी की दुकान चला कर अपने परिवार का भरण भोषण व उनकी शिक्षा दीक्षा की जिम्मेवारी उठाते हैं  जबकि आलोक कुमार की मां वंदना अग्रवाल कुशल गृहिणी हैं. 

आलोक का पूरा परिवार आरा के जेल रोड स्थित अपने घर में रहते हैं. वही आलोक फिलहाल दिल्ली में रह कर पत्नी के संग एग्जाम की तैयारी कर रहे हैं. बता दें कि आलोक दो भाइयों में सबसे बड़े हैं. उनका छोटा भाई अभिषेक अग्रवाल आरा में रह कर ही फिलहाल पढ़ाई कर रहे हैं. आलोक के पिता की मानें तो बीपीएसी में टॉप 7 स्थान लाकर उनके पिता की आखिरी ख्वाहिश को आलोक ने पूरी कर दिया है. इस दौरान आलोक के पिता थोड़े भावुक भी नजर आए और मध्यमवर्गीय परिवार की परेशानियों से जूझते हुए बेटे को सफल बनाने की कहानी बताई.

मां वंदना अग्रवाल ने अपने बेटे की कामयाबी पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि बेटे की पढ़ाई व उसकी मेहनत रंग लाई और सफलता मिली है. वहीं आलोक के बड़े पापा और उसके छोटे भाई अभिषेक अग्रवाल भी इस सफलता से काफी खुश नजर आए. फिलहाल बीपीएससी में आलोक के रिजल्ट आने के बाद रिश्तेदार और पड़ोसियों का बधाई देने का तांता लगा हुआ है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें