scorecardresearch
 
एजुकेशन

ऐसा है अरुण जेटली का परिवार, पिता की तरह ही वकील हैं बेटा-बेटी

ऐसा है अरुण जेटली का परिवार, पिता की तरह ही वकील हैं बेटा-बेटी
  • 1/7
पूर्व वित्त मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के बड़े नेता अरुण जेटली लंबे समय से बीमार थे. आज दोपहर 12.07 बजे उनका निधन हो गया. वह एक प्रखर नेता और कुशल रणनीतिकार के रूप में हमेशा याद किए जाएंगे. उन्होंने भारतीय राजनीति में कई बड़ी जिम्मेदारियां निभाईं.




ऐसा है अरुण जेटली का परिवार, पिता की तरह ही वकील हैं बेटा-बेटी
  • 2/7
अरुण जेटली का जन्म 28 दिसंबर 1952  को दिल्ली में हुआ था. उनके पिता का नाम महाराज किशन जेटली था जो एक वकील थे और जबकि माता रतन प्रभा जेटली थीं.


ऐसा है अरुण जेटली का परिवार, पिता की तरह ही वकील हैं बेटा-बेटी
  • 3/7
अरुण जेटली की स्कूली पढ़ाई दिल्ली के सेंट जेवियर स्कूल से हुई.  इसके बाद दिल्ली यूनिवर्सिटी के श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स से अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री ली और फिर दिल्ली यूनिवर्सिटी से ही लॉ की डिग्री हासिल की.
ऐसा है अरुण जेटली का परिवार, पिता की तरह ही वकील हैं बेटा-बेटी
  • 4/7
शादी

अरुण जेटली की पत्नी का नाम संगीता है. उनकी शादी साल 1982 को हुई. दोनों के 2 बच्चे हैं. एक बेटा और एक बेटी. बेटे का नाम रोहन हैं और बेटी का नाम सोनाली.

(अरुण जेटली का परिवार)
ऐसा है अरुण जेटली का परिवार, पिता की तरह ही वकील हैं बेटा-बेटी
  • 5/7
अरुण जेटली की बेटी और बेटा दोनों अपने पिता की तरह वकील हैं. ये तीसरी पीढ़ी है जिसने वकालत में अपना करियर बनाया है.


(सोनाली सिंगर मीका सिंह के साथ)
ऐसा है अरुण जेटली का परिवार, पिता की तरह ही वकील हैं बेटा-बेटी
  • 6/7
 बेटी की शादी की हुई थी चर्चा

अरुण जेटली की बेटी सोनाली 2015 में अपनी शादी को लेकर चर्चा में आई थीं. उनकी शादी बिजनेसमैन और लॉयर जयेश बख्शी से हुई है. शादी में शाहरुख खान और फिल्म इंडस्ट्री के कई जाने माने सितारे शामिल हुए थे.

(तस्वीर- सोनाली की शादी की है, शाहरुख खान समेत कई फिल्मी सितारे हैं)
ऐसा है अरुण जेटली का परिवार, पिता की तरह ही वकील हैं बेटा-बेटी
  • 7/7
क्या करते हैं बेटे रोहन

अरुण जेटली के बेटे रोहन भी पिता की तरह वकील हैं.  शुरुआती पढ़ाई उन्होंने दिल्ली पब्लिक स्कूल आरके पुरम से की है. जिसके बाद एमिटी लॉ स्कूल से लॉ में ग्रेजुएशन की डिग्री ली. न्यूयॉर्क की कार्नेल यूनिवर्सिटी से लॉ में मास्टर की डिग्री ली. अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद वह साल 2014 में भारत लौटे. जिसके बाद उन्होंने बार काउंसिल ऑफ इंडिया की मेंबरशिप ली. साल 2014 में उन्होंने बतौर वकील सुप्रीम कोर्ट में अपनी प्रैक्टिस शुरू कर दी.