scorecardresearch
 

UP School College: यूपी में कोरोना की स्थिति पर जल्‍द होगी मीटिंग, स्‍कूल-कॉलेज खोलने पर फैसला संभव

UP School College Update: राज्‍य में जनवरी के पहले सप्‍ताह में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए स्‍कूल-कॉलेज 16 जनवरी तक बंद किए गए थे, जिसके बाद स्थिति की दोबारा समीक्षा के बाद इसकी समय सीमा बढ़ाकर 23 जनवरी तक दी गई. इस दौरान सभी कॉलेज और यूनिवर्सिटी भी बंद कर दिए गए हैं और यूनिवर्सिटी के सेमेस्‍टर एग्‍जाम भी स्‍थगित कर दिए गए हैं.

X
UP School College Update: UP School College Update:
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बढ़ाई जा चुकी है स्‍कूलबंदी की मियाद
  • 23 जनवरी को हो सकता है कोई फैसला

UP School College Update: उत्‍तर प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों के चलते शैक्षणिक संस्‍थान लंबे समय से बंद हैं. राज्‍य में जनवरी के पहले सप्‍ताह में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए स्‍कूल-कॉलेज 16 जनवरी तक बंद किए गए थे, जिसके बाद स्थिति की दोबारा समीक्षा के बाद इसकी समय सीमा बढ़ाकर 23 जनवरी तक दी गई. इस दौरान सभी कॉलेज और यूनिवर्सिटी भी बंद कर दिए गए हैं और यूनिवर्सिटी के सेमेस्‍टर एग्‍जाम भी स्‍थगित कर दिए गए हैं. छात्र अब इस संशय में हैं कि ऑफलाइन पढ़ाई कब दोबारा शुरू हो पाएगी. 

बता दें कि अंडरग्रेजुएट और पोस्‍टग्रेजुएट कोर्सेज़ के सेमेस्‍टर एग्‍जाम 15 जनवरी से 30 जनवरी तक आयोजित किए जाने थे. स्‍टूडेंट्स अभी अपने एग्‍जाम की नई डेट्स के इंतजार में हैं. इसके अलावा यूपी बोर्ड 10वीं, 12वीं के एग्‍जाम भी राज्‍य विधानसभा चुनावों के बाद शुरू होने हैं, इसके चलते छात्र ऑफलाइन क्‍लासेज़ शुरू होने की डेट का इंतजार कर रहे हैं. बता दें कि प्रशासन अब जल्‍द शैक्षणिक संस्‍थानों पर अगला निर्णय लेने वाला है.

शैक्षणिक संस्‍थान रविवार 23 जनवरी तक बंद हैं. ऐसे में 23 जनवरी को ही कोरोना की स्थिति की फिर से समीक्षा कर अगला फैसला लिया जाएगा. हालांकि, अभी भी संक्रमण के मामलों को बड़ी गिरावट देखने को नहीं मिली है जिसके चलते यह अनुमान लगाया जा सके कि स्‍कूल-कॉलेज खोल दिए जाएंगे. मगर प्रशासन सख्‍त कोरोना प्रोटोकॉल और संभवत: 50 फीसदी उपस्थिति के साथ ऑफलाइन पढ़ाई की अनुमति दे सकता है. 

यदि संक्रमण बढ़ने की रफ्तार बढ़ती है तो क्‍लासेज़ आगे भी बंद रखी जा सकती हैं. हालांकि, शैक्षणिक संस्‍थानों को ऑनलाइन क्‍लासेज़ जारी रखने की अनुमति है मगर फिजिकल क्‍लासेज़ शुरू करने पर मीटिंग के बाद ही फैसला लिया जा सकेगा. प्रशासन का निर्देश राज्‍यभर के सभी सरकारी और प्राइवेट स्‍कूल-कॉलेजों पर लागू होगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें