scorecardresearch
 

परीक्षा पे चर्चा: Exam Warriors को पीएम मोदी दे चुके हैं ये 10 टिप्‍स

परीक्षा पे चर्चा: साल 2018 से अब तक प्रधानमंत्री छात्रों को परीक्षा पे चर्चा प्रोग्राम में ये 10 ट‍िप्‍स दे चुके हैं. जानिए- क्‍या थे वो खास टिप्‍स.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (File Photo) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (File Photo)

बोर्ड परीक्षा की तैयारियों में जुटे एग्‍जाम वॉरियर्स के लिए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर परीक्षा पे चर्चा का नया सेगमेंट ला रहे हैं. प्रधानमंत्री बुधवार को शाम सात बजे छात्रों को परीक्षा के तनाव से बचने का मंत्र देंगे. साल 2018 से अब तक प्रधानमंत्री छात्रों को परीक्षा पे चर्चा प्रोग्राम में ये 10 ट‍िप्‍स दे चुके हैं.

2018 में दिए ये 2 खास टिप्‍स

1. डी- फोकस करना सीखें:
परीक्षा पे चर्चा 2018 में 
पीएम मोदी ने डी फोकस करने के फायदे बताए थे. इस प्रोग्राम में एक छात्र ने सवाल किया था कि परीक्षा के समय दोस्तों के साथ खेलने का मन करता है, ऐसी स्थिति में क्या करूं?

इस पर पीएम मोदी ने कहा कि अगर आपको फोकस करना है तो पहली डी-फोकस करना सीख लीजिए. सबसे बड़ी समस्या है कि हम डी-फोकस करना नहीं जानते. डी-फोकस करना आपको फोकस के तनाव से मुक्ति दिलाता है.

2: हॉबी को अपनाएं
खेलने, गीत गाने की हॉबी है तो गाइए, सुनने का शौक है सुनिए, जो चीज आपको आनंद देती है वो करिए. जिस दोस्त से मिलने से खुशी मिलती है, उससे 10 मिनट मिल लीजिए.


2019 में दिए ये 5 टिप्‍स

3: अपना शब्द कोष बढ़ाएं : छात्रों को नए नए शब्द सीखने चाहिए. इसके हर कदम पर कई लाभ हैं.

4: ऐप से भाषा सीखें : अब कई भाषाओं के मोबाइल ऐप आ गए हैं. उन ऐप की मदद से हिंदी, इंग्लिश या अन्य भाषाओं पर अपनी पकड़ मजबूत बना सकते हैं.

5: लक्ष्य है जरूरी : जीवन में सफलता के लिए लक्ष्य का होना जरूरी है. पहले एक लक्ष्य तय कर लें और फिर उसको हासिल करने के लिए रणनीति बनाएं.

6: मॉक टेस्ट : आपको ढेरों सारे ऑनलाइन मॉक टेस्ट मिल जाएंगे. मॉक टेस्ट की मदद से आप अपनी तैयारी का स्तर और कमियों को पता कर सकते हैं.

7: तकनीक समस्या नहीं, हल : इंटरनेट का सही इस्तेमाल करें. कई वेबसाइट और ऐप्स हैं जहां आप अपने कमजोर टॉपिक को मजबूत बना सकते हैं.

2020 के ये 3 टिप्‍स रहे खास


8: काम पर केंद्र‍ित रहने से कम होगा तनाव: 
उन्होंने 2020 में कहा कि छात्र अगर परीक्षा में अपने काम पर ही खुद को केन्द्रित करें तो अनावश्यक तनाव से मुक्ति मिल सकेगी और इससे उनकी कठिनाई बहुत कम हो जाती है.
    
9: एग्‍जाम में पहले सरल सवाल हल करें:

परीक्षा में पहले सरल सवालों के जवाब देने का सुझाव देते हुए पीएम ने कहा था कि इससे आपका हौसला भी बढ़ता है और कठिन सवालों के जवाब दे पाने का आत्मविश्वास पैदा होता है. 

10: एग्‍जाम में फेल होने से डरना छोड़ें:

पीएम मोदी ने कहा था कि छात्रों को परीक्षा से बिल्कुल नहीं डरना चाहिए. खासकर नाकाम होने का डर तो कतई अपने मन में नहीं पनपने देना चाहिए. पंजाब की छात्रा हरदीप द्वारा परीक्षा के तनाव के बारे में पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा था कि सिर्फ बोर्ड परीक्षा के अंक जिंदगी नहीं हैं. या कोई एक परीक्षा पूरी जिंदगी नहीं है. ये एक महत्वपूर्ण पड़ाव है, लेकिन यही सब कुछ है, ऐसा नहीं मानना चाहिए. उन्‍होंने पेरेंट्स से भी आग्रह किया था कि वो बच्चों से ऐसी बातें न करें कि परीक्षा ही सब कुछ है.
     
इससे पहले वो समय के सदुपयोग से जुड़े एक अन्य सवाल के जवाब में मोदी ने फोन पर समय की बर्बादी का जिक्र करते हुये कहा था कि स्मार्ट फोन आपका जितना समय चोरी करता है, उसमें से 10 प्रतिशत कम करके आप अपने मां, बाप, दादा, दादी के साथ बिताएं. तकनीक हमें खींचकर अपने पास ले जाए, इससे हमें बचना चाहिए. हमारे अंदर ये भावना होनी चाहिए कि मैं तकनीक को अपनी मर्जी से उपयोग करूंगा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें