scorecardresearch
 

JEE Main Topper: कराटे में ब्लैक बेल्ट हैं सिद्धान्त मुखर्जी, जानिए AIR 1 रैंक हासिल करने की कहानी

JEE Main 2021 Topper: सिद्धान्त आईआईटीयन बनने का सपना लेकर साल 2019 में 11वीं कक्षा के पढ़ाई के दौरान कोटा आए थे. जेईई मेन की तैयारी के लिए NCERT पर गहराई से फोकस किया. वे बताते हैं कि पूरे देश के स्टूडेंट्स यहां आते हैं, इसलिए पढ़ाई के लिए बेस्ट पीयर ग्रुप मिलता है.

JEE Main Topper Sidhhant Mukherjee JEE Main Topper Sidhhant Mukherjee
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सिद्धान्त को पढ़ाई के अलावा कराटे खेलना है पसंद
  • कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी से भी पढ़ाई आ चुका है ऑफर लेटर

JEE Main 2021 Topper: मुंबई के रहने वाले सिद्धान्त मुखर्जी ने जेईई-मेन में AIR रैंक 1 प्राप्त की है. इससे पहले उन्होंने जेईई-मेन फरवरी में 100 पर्सेन्टाइल के साथ-साथ 300 में से 300 अंक प्राप्त किए थे. सिद्धान्त पिछले दो सालों से कोटा में रहकर एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट से इंजीनियरिंग की परीक्षाओं के लिए तैयारी कर रहे हैं.

सिद्धान्त आईआईटीयन बनने का सपना लेकर साल 2019 में 11वीं कक्षा के पढ़ाई के दौरान कोटा आए थे. वे बताते हैं कि पूरे देश के स्टूडेंट्स यहां आते हैं, इसलिए पढ़ाई के लिए बेस्ट पीयर ग्रुप मिलता है. जेईई मेन की तैयारी के लिए NCERT पर गहराई से फोकस किया. सबसे ज्यादा एक्यूरेसी पर ध्यान दिया. लॉकडाउन में पांच महीने घर चला गया था लेकिन एलन ऑनलाइन क्लासेज ली, जिससे परीक्षा की तैयारी के लिए निरंतरता बनी रही.

सिद्धांत फिलहाल कोटा में अपनी नानी के साथ रहते हैं. उनके मम्मी-पापा भी अक्सर मुंबई से कोटा आते रहते हैं. सिद्धांत कहते हैं कि मैं आईआईटी मुम्बई से कम्प्यूटर साइंस से बीटेक करने के बाद आगे सीएस फील्ड में इनोवेटिव इंडिया में अपना योगदान देना चाहता हूं.

सिद्धांत के पिता संदीप मुखर्जी रिस्क मैनेजमेंट कंपनी संचालित करते हैं तथा मां नवनीता मुखर्जी बैंक कर्मचारी हैं. सिद्धांत को पढ़ाई के साथ-साथ कराटे का भी शौक है, ब्लैक बेल्ट हैं, क्वींस कॉमनवैल्थ निबंध प्रतियोगिता में गोल्ड मैडल प्राप्त कर चुके हैं . इसके अलावा हाल ही में उन्हें लंदन के कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी से भी पढ़ाई के लिए ऑफर लेटर प्राप्त हुआ है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें