scorecardresearch
 

JNU ने रद्द की पीएम मोदी पर बनी बीबीसी डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग, छात्र संघ ने जताया ऐतराज

JNU Controversy: यूनिवर्सिटी प्रशासन का कहना है कि ऐसे किसी आयोजन की स्‍वीकृति नहीं ली गई थी, और इस तरह की 'अनधिकृत गतिविधि' यूनिवर्सिटी परिसर की शांति और सद्भाव को बिगाड़ सकती है. हालांकि, इस पर छात्र संघ अध्‍यक्ष आइषी घोष ने ऐतराज जताया है.

X
JNU Controversy
JNU Controversy

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) प्रशासन ने यूनिवर्सिटी में होने जा रही BBC की प्रधानमंत्री मोदी पर बनी डॉक्‍यूमेंट्री की स्‍क्रीनिंग रद्द कर दी है. यूनिवर्सिटी प्रशासन का कहना है कि ऐसे किसी आयोजन की स्‍वीकृति नहीं ली गई थी, और इस तरह की 'अनधिकृत गतिविधि' यूनिवर्सिटी परिसर की शांति और सद्भाव को बिगाड़ सकती है. यूनिवर्सिटी प्रशासन ने यह भी चेतावनी दी कि आदेश न मानने और विवादास्पद डॉक्‍यूमेंट्री की स्क्रीनिंग करने वाले छात्रों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. 

हालांकि, इस मामले पर अब JNUSU की अध्‍यक्ष आइषी घोष ने कहा है कि जेएनयू छात्र संघ डॉक्‍यूमेंट्री की स्‍क्रीनिंग करेगा. उन्‍होंने कहा, 'मीडिया, जेएनयू प्रशासन और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद गलत जानकारी फैला रहे हैं, मगर हमार काम है लोकतंत्र को मजबूत बनाना और हम ऐसा करते रहेंगे. यह जानकारी सभी से साझा कर दें और कृपया स्‍क्रीनिंग के लिए उपस्थित हों. धन्‍यवाद.'
 
बता दें कि डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग के लिए छात्रों के एक समूह द्वारा एक पैम्फलेट जारी किए गए थे, जिसके बाद यूनिवर्सिटी प्रशासन ने नोटिस जारी करके इसकी स्‍क्रीनिंग पर रोक लगा दी. जेएनयू प्रशासन द्वारा जारी नोटिस के अनुसार, जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ का प्रतिनिधित्व करने वाले छात्रों ने प्रशासन से बीबीसी की डॉक्‍यूमेंट्री "इंडिया: द मोदी क्वेश्चन" के स्‍क्रीनिंग की अनुमति नहीं मांगी है. ऐसे में जो छात्र स्‍क्रीनिंग का आयोजन करेंगे, उनपर कड़ी कार्रवाई होगी. जबकि छात्र संघ ने इस पर ऐतराज जताया है.

(राहुल गौतम के इनपुट के साथ)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें