scorecardresearch
 
एजुकेशन न्यूज़

UPSC Mains Exam: मेंस एग्जाम के दो महीने बाकी, ऐसे करें तैयारी, एक्सपर्ट से जानें ट‍िप्स

प्रतीकात्मक फोटो (Getty)
  • 1/7

UPSC CSE (Main) Exam 2021: परीक्षा सात से 16 जनवरी 2022  को होंगे. यूपीएससी मेन्स परीक्षा सिविल सेवा परीक्षा का दूसरा चरण है. IAS मेंस परीक्षा वो उम्मीदवार देते हैं जो प्रीलिम्स क्लियर करते हैं. यानी जनरल स्टडीज पेपर I में कटऑफ से ऊपर और जनरल स्टडीज पेपर- II (CSAT) में 33% से अधिक अंक मिले हैं. अब यूपीएससी मेंस की परीक्षा के लिए सिर्फ दो महीने बचे हैं, आइए परीक्षा से पहले जानें- कैसे करें तैयारी, किस तरह के सवाल पूछे जाते हैं. क्या होते हैं ट‍िप्स... 

प्रतीकात्मक फोटो (Getty)
  • 2/7

यूपीएससी मेन्स परीक्षा के लिए हमेशा कोचिंग नोट्स पर निर्भर न रहें और न ही भारी-भरकम किताबों का इस्तेमाल करें क्योंकि परीक्षा आपके लिए महत्वपूर्ण है. उत्तर लिखते समय बेसिक कॉन्सेप्ट के साथ अपने विचारों को लिखें. एनसीईआरटी की किताबें अच्छी हैं लेकिन सिर्फ उन्हें पढ़ना मुख्य परीक्षा के लिए पर्याप्त नहीं है. इसलिए सिर्फ एनसीईआरटी की किताबों के साथ साथ कुछ और किताबों को पढ़ें ताकि विषयों की बेहतर समझ विकसित हो सके. साथ ही इन बातों का रखें ध्यान.

प्रतीकात्मक फोटो (Getty)
  • 3/7

संपूर्ण विचार लिखें: निबंध में कंटेन्ट में तथ्य फैक्ट से ज्यादा विचारों का संपूर्ण होना जरूरी है. आलेख में सभी पहलू समाहित हो जाएं. जैसे भारत में औद्योगिक विकास न होने के कारण विषय पर लिखते समय संपूर्ण विचार व्यवस्थित करना होगा.

बेहतर करना जरूरी: ये यूनिवर्सिटी की परीक्षा नहीं है कि बच्चे सिर्फ सिलेबस पूरा करके एग्जाम दे देते हैं. इसलिए दूसरे से बेहतर और प्रभावी लिखना जरूरी है.

प्रतीकात्मक फोटो (Getty)
  • 4/7

अच्छा लिखें: सवालों के जवाब सूचनायुक्त होने चाहिए. तीन तरह की लीड हो सकती है इन्फॉर्मेशन सूचनाओं का समावेश होना चाहिए प्रभावी प्रस्तुतीकरण होना चाहिए. इफेक्टिव टूल कंटेन्ट जैसे ग्राफिक्स, टेबल आदि का प्रयोग करना चाहिए.

प्रभावी लीड: इंप्रेशन लीड आपकी पहली लाइन में आपका पूरा उत्तर देना चाहिए. पहले वाक्य में पता चल ही जाता है कि आपको जानकारी है या नहीं शुरुआती एक या दो लाइन में ही एग्जामिनर को समझ में आ जाता है कि उसे आगे पढ़ना है या नहीं.

प्रतीकात्मक फोटो (Getty)
  • 5/7

हैंड राइटिंग: हैंड राइटिंग खराब या अच्छी नहीं होती. इसलिए यदि आपकी हैंड राइटिंग आपको लगता है अच्छी नहीं है तो बार-बार लिखने की प्रेक्टिस करें. इससे सही अक्षरों की बनावट आएगी और वह स्पष्ट दिखाई देने लगेंगे.

ध्यान रखिए: लिखने में वर्तनी संबंधी अशुद्धियां नहीं कीजिए. मात्राओं में गलत अक्षर लिखने, गलत मात्रा लगाने से गलत प्रभाव पड़ता है और औसत नंबर ही मिलते हैं.

प्रतीकात्मक फोटो (Getty)
  • 6/7

इन विषयों का रखें खास ध्यान

1. इतिहास, भूगोल, आपदा प्रबंधन: ये नई चीजें नहीं हैं आपदा प्रबंधन से जुड़ी प्रमुख दुर्घटनाओं का जिक्र किया गया है. इसमें विश्व का और भारत का भूगोल, केस स्टडी को अच्छे से पढ़ना ही चाहिए. विश्व और भारत का इतिहास भी तैयार रखें. तथ्यों में गलती न करें. अगर कोई तथ्य याद नहीं है तो उसे गलत लिखने के बजाए छोड़ दें.

2. शासन व्यवस्था, सामाजिक समस्याएं अंतरराष्ट्रीय संबंध: सोशल सेक्टर भारत में एनजीओ, कॉर्पोरेटिव मूवमेंट, शिक्षा व्यवस्था शामिल है. संविधान के अलावा नेशनल पोर्टल ऑफ इंडिया के साथ ही भारत सरकार की संबंधित विभागों की वेबसाइट पर भी जानकारी मिल सकती है. अधिनियम से जुड़े सवालों के लिए वेयर एक्ट पढ़ लेना अच्छा है. किसी भी सवाल को छोड़ना नुकसानदेह हो सकता है.
 

प्रतीकात्मक फोटो (Getty)
  • 7/7

3. विज्ञान प्रौद्योगिकी, अर्थव्यवस्था, पर्यावरण: विज्ञान के लिए आप लुसेंट से मदद ले सकते हैं. अर्थव्यवस्था के लिए करेंट अफेयर्स, बैंकिंग और बजट और आर्थिक सर्वेक्षण का ध्यान रखें.

4. अभिरुचि प्रशासनिक एवं अभियोग्यता: प्रशासनिक शब्दावली, जवाबदेही, जिम्मेदारी, ईमानदारी, केस स्टडी, प्रमुख विचारकों के सवाल यह पेपर ज्यादा कठिन लगता है इसमें ज्यादातर प्रमुख विचारकों के बारे में कई किताबें मौजूद हैं. पारदर्शिता, ईमानदारी पर कोई सिलेबस के अनुसार खुद ही सोचकर अभी से नोट्स बना लीजिए.