scorecardresearch
 

First woman in space: मां के साथ कपड़े की फैक्ट्री में करती थीं मजदूरी, जानें वेलेंटीना कैसे बनीं स्पेस में जाने वाली पहली महिला

Valentina Tereshkova, First woman in space: पिता की मौत के बाद, वेलेंटीना का स्कूल छूट गया था और वे भी मां के साथ कपड़े की फैक्ट्री में काम करने लगीं. जब उन्हें अंतरिक्ष यात्री के रूप में चुना गया, उस समय भी वह एक स्थानीय कारखाने में एक कपड़ा कर्मचारी के रूप में मजदूरी कर रही थी.

X
Valentina Tereshkova First woman in space Valentina Tereshkova First woman in space
स्टोरी हाइलाइट्स
  • महज 2 वर्ष की उम्र में पिता को खोया
  • पढ़ाई छोड़ मां के साथ की मजदूरी

16 June History in Hindi, First woman in space: 16 जून 1963, दुनियाभर में इस तारीख को महिलाओं के लिए सम्मान को बढ़ाया और महिलाओं के हौसले पर सवाल उठाने वाले को मुंहतोड़ जवाब कहा जा सकता है. इस दिन सोवियत संघ के एक गरीब परिवार में पैदा हुई आम सी दिखने वाली लड़की ने अकेले स्पेस में जाने का हौसला दिखाया था. हम बात कर रहे हैं वेलेंटीना टेरेश्कोवा (Valentina Tereshkova) की. वे अंतरिक्ष में यात्रा करने वाली पहली महिला सोवियत अंतरिक्ष यात्री थीं. 16 जून 1963 को, वेलेंटीना को स्पेसक्राफ्ट वोस्तोक 6 पर एक सोलो मिशन पर लॉन्च किया गया था. यह अंतरिक्ष में भेजे गए पहले ह्यूमन यूरी गगारिन की स्पेस यात्रा के दो साल बाद हो रहा था. वेलेंटीना ने पृथ्वी की परिक्रमा करते हुए 70 घंटे से अधिक समय बिताया.

महज 2 वर्ष की उम्र में सिर से उठ गया था पिता का साया
वेलेंटीना का जन्म 6 मार्च 1937 को मध्य रूस के बोल्शॉय मास्लेनिकोवो (Bol'shoe Maslennikovo) गांव में हुआ था. उनकी मां कपड़े की एक फैक्ट्री में काम करती थीं और पिता ट्रैक्टर चलाते थे, जिन्हें बाद में द्वितीय विश्व युद्ध (World War Two) के दौरान एक जंग के नायक के रूप में पहचाना गया था. फ़िनिश मोर्चे पर अपनी मृत्यु के समय, वेलेंटीना केवल दो साल की थीं.

स्पेस में जाने से पहले भी कपड़े की फैक्ट्री में काम कर रही थीं वेलेंटीना
पिता की मौत के बाद, वेलेंटीना का स्कूल छूट गया था और वे भी मां के साथ कपड़े की फैक्ट्री में काम करने लगीं. छोटी उम्र से ही उन्हें पैराशूटिंग में दिलचस्पी थी. वेलेंटीना ने मई 1959 में 22 साल की उम्र में पहली छलांग लगाते हुए एक लोकल फ्लाइंग क्लब में स्काइडाइविंग शुरू की. एक अंतरिक्ष यात्री के रूप में अपने चयन के समय, वह एक स्थानीय कारखाने में एक कपड़ा कर्मचारी के रूप में मजदूरी कर रही थी.

आज भी सबसे कम उम्र में सोवियत वायु सेना में शामिल होने वाली महिला
वेलेंटीना ने अपने चयन के बाद सोवियत वायु सेना के साथ 18 महीने की ट्रेंनिंग की. ट्रेनिंग के दौरान उन्हें एक्स्ट्रीम ग्रेविटी, इमरजेंसी के समय उठाए जाने वाले कदम और उनका सामना करने की क्षमता, स्पेस में आइसोलेशन सिच्युएशन सिखाई और एबिलिटी टेस्ट की गईं. महज 24 साल की उम्र में, उन्हें सम्मान के साथ सोवियत वायु सेना में शामिल किया गया था. वेलेंटीना अभी भी सबसे कम उम्र की महिला और अंतरिक्ष में उड़ान भरने वाली पहली नागरिक का खिताब रखती हैं.

स्पेस से लौटने के बाद...
3 दिनों के लिए, जब वेलेंटीना पृथ्वी ग्रह से बाहर थी, पत्रकारों ने उसके बारे में अधिक से अधिक सीखा. वह सोवियत संघ में सबसे प्रसिद्ध लड़की के रूप में धरती पर लौटीं एयरपोर्ट पर उनका भव्य स्वागत किया गया. बाद के जीवन में, वेलेंटीना को प्रतिष्ठित पदकों से सम्मानित किया गया था और उन्होंने रूसी और ग्लोबल काउंसिल दोनों के लिए कई प्रमुख राजनीतिक पदों पर काम किया है. सोवियत संघ के पतन से पहले, वह राज्य की आधिकारिक प्रमुख थीं और 1966 में विश्व शांति परिषद की सदस्य चुनी गईं. आज 85 वर्षीय वेलेंटीना रूस में अंतर्राष्ट्रीय मामलों की समिति के लिए उपाध्यक्ष का पद संभाल रही हैं. वह अंतरिक्ष स्पेस कम्युनिटी में भी काफी एक्टिव हैं. वे अब मंगल ग्रह की यात्रा करने का जज्बा रखती हैं चाहे वह सफर भले ही वह एकतरफा क्यों न हो.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें