scorecardresearch
 

एडमिशन से पहले जानें ये बातें, नहीं होंगे फर्जी यूनिवर्सिटी का शिकार

बोर्ड परीक्षाएं खत्म होने वाली है और कई बोर्ड की परीक्षाएं खत्म हो चुकी है. परीक्षा के बाद कॉलेज में एडमिशन लेना सबसे अहम और जटिल कार्य होता है, इस दौरान की गई एक भी गलती आपके करियर में परेशानी बन सकती है.

प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो

बोर्ड परीक्षाएं खत्म होने वाली है और कई बोर्ड की परीक्षाएं खत्म हो चुकी है. परीक्षा के बाद कॉलेज में एडमिशन लेना सबसे अहम और जटिल कार्य होता है, इस दौरान की गई एक भी गलती आपके करियर में परेशानी बन सकती है. अगर आप भी फर्जी यूनिवर्सिटी का शिकार होने से बचना चाहते हैं और आसानी से एडमिशन की प्रक्रिया पूरी करना चाहते हैं तो ये बातें जरूर ध्यान में रखें.

बता दें कि हाल ही के कुछ सालों में लाखों बच्चे फर्जी यूनिवर्सिटी के शिकार हो चुके हैं. इसके लिए पहले कॉलेज की मान्यता को लेकर जांच पड़ताल पहले ही कर लें और इसके लिए यूजीसी भी छात्रों की मदद करता है. इसलिए फर्जी यूनिवर्सिटी की जांच के लिए आप यूजीसी का सहारा ले सकते हैं.

जानें- इग्नू और एसओएल में क्या है बेहतर? ऐसे होता है एडमिशन

आयोग अपनी वेबसाइट पर फर्जी यूनिवर्सिटियों की सूची प्रकाशित करता है. साथ ही आप एडमिशन से पहले पता कर लें कि कॉलेज यूजीसी से मान्यता प्राप्त है या नहीं, आपकी कॉलेज डिस्टेंस से पढ़ाई करवाती है या खुद की डिग्री देती है.

कॉलेज चुनने की शुरुआत करते समय इन बातों का भी विशेष ध्यान रखें

- पता कर लें कि जिस कॉलेज या यूनिवर्सिटी में एडमिशन ले रहे हैं वो मान्यता प्राप्त है या नहीं.

- कॉलेज में एडमिशन का कट ऑफ परसेंटाइल कितना है?

ये हैं भारत के टॉप 5 सबसे महंगे स्कूल, फीस जान रह जाएंगे हैरान

- कॉलेज में छात्रों की संख्या और उनके बैकग्राउंड के बारे में समझें.

- अगर अपने शहर से बाहर जा रहे हैं तो पहले हॉस्टल या रहने संबंधी जानकारी भी ले लें.

- फैकल्टी की विस्तृत पड़ताल करें, जो कि वेबसाइट पर उपलब्ध रहता है.

- पिछले 5 वर्षों का प्लेसमेंट रिकॉर्ड और इंटर्नशिप देने वाली कंपनियों की लिस्ट की जानकारी हासिल करें.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें