scorecardresearch
 

पीसीआर: बैंड, बाजा और 'चोरों की बारात'

दिल्ली में चोर शादियों को निशाना बना रहे हैं. ये चोर मेहमान बनकर आते हैं और सामान पर हाथ साफ कर देते हैं. शादी समारोह से जेवर और कैश चुराकर फरार हो जाते हैं. गैंग में कम उम्र के बच्चों को रखा गया है. ये सभी नाबालिग चोरी के लिए ठेके पर एक साल या 6 महीने के लिए लाए जाते थे. इस गैंग ने कई शादियों के रंग में भंग डाला है. मगर एक शादी की सीसीटीवी फुटेज सामने आने के बाद इस गैंग का पर्दाफाश हो गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें