scorecardresearch
 

मुर्शिदाबाद हत्याकांड में अब तक 4 हिरासत में, जांच जारी

पुलिस बीरभूम में भी मामले की जांच कर रही है. पुलिस मारे गए परिवार के पैतृक गांव में भी जांच कर रही है. इस हत्या के बाद विपक्ष ने ममता बनर्जी सरकार पर हमला बोला है. 

इस घटना में शिक्षक, उनकी पत्नी और बेटे की हत्या कर दी गई (फाइल फोटो) इस घटना में शिक्षक, उनकी पत्नी और बेटे की हत्या कर दी गई (फाइल फोटो)

  • पुलिस बीरभूम में भी इस मामले की जांच कर रही है
  • संघ का दावा है कि मृतक बंधु पाल संघ कार्यकर्ता थे

पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले में शिक्षक, उनकी गर्भवती पत्नी और 8 साल के बच्चे की हत्या के मामले में अब तक 4 लोगों को हिरासत में लिया गया है. पुलिस बीरभूम में भी इस मामले की जांच कर रही है. पुलिस मारे गए परिवार के पैतृक गांव में भी जांच कर रही है. इस हत्या के बाद विपक्ष ने ममता बनर्जी सरकार पर हमला बोला है.

प्रदेश के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने इस पूरे मामले में राज्य सरकार से रिपोर्ट मांगी है. पुलिस ने वारदात के पीछे निजी रंजिश कारण बताया है. पुलिस बरामद हैंड नोट के आधार पर ये अंदेशा भी जता रही है कि आरएसएस कार्यकर्ता बंधु प्रकाश और उनकी पत्नी के बीच संबंध अच्छे नहीं थे.

लालबाग मुर्शिदाबाद के एडिशनल एसपी तन्मय सरकार ने कहा कि इस मामले की जांच चल रही है. मृतक बंधु प्रकाश पाल सागर दिघी में रहते थे और वहां उन्होंने कुछ लोगों से पैसे लिए थे. इसको लेकर उनके बीच कुछ मामला चल रहा था, जिसके बाद बंधु जियागुंज चले गए थे. वेएक प्राथमिक स्कूल में टीचर थे.

आरएसएस ने दावा किया है कि मृतक बंधु पाल संघ के कार्यकर्ता थे. पुलिस ने इस बात की तो पुष्टि की है कि मंगलवार को तीन शव बरामद किए गए लेकिन 35 वर्षीय प्राथमिक विद्यालय शिक्षक मृतक बंधु पाल स्वयंसेवक थे, इस पर कुछ नहीं कहा है.

आरएसएस के राज्य सचिव जिष्णु बसु ने कहा कि बंधु पिछले कुछ महीनों से नियमित रूप से संघ के साप्ताहिक कार्यक्रम 'मिलन' में भाग ले रहे थे. उन्होंने हत्या के 48 घंटे बीत जाने के बाद भी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने के चलते पुलिस की आलोचना की. आरएसएस ने क्षेत्र में तथ्य ढूंढने वाली टीम भेजी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें