scorecardresearch
 

लखनऊ में अपहरण के बाद मासूम की हत्या

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पहले एक पांच साल के मासूम का अपहरण किया गया और बाद में फिरौती न मिलने पर बच्चे को बेरहमी के साथ कत्ल कर दिया गया. कातिल इतने पत्थर दिल थे कि उन्होंने बच्चे की लाश के टुकड़े टुकड़े कर दिए थे.

मासूम केशव की हत्या गला दबाकर की गई मासूम केशव की हत्या गला दबाकर की गई

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पहले एक पांच साल के मासूम का अपहरण किया गया और बाद में फिरौती न मिलने पर बच्चे को बेरहमी के साथ कत्ल कर दिया गया. कातिल इतने पत्थर दिल थे कि उन्होंने बच्चे की लाश के टुकड़े टुकड़े कर दिए थे.

मामला लखनऊ के मड़ियांव इलाके का है. जहां मनीष शुक्ला अपने परिवार के साथ रहते हैं. 23 अगस्त को मनीष ने थाने में अपने पांच साल के बेटे केशव को अगवा कर लिए जाने की शिकायत दर्ज कराई थी. अपहरण के कुछ देर बाद ही बदमाशों ने केशव के पिता से दस लाख रूपये की फिरौती मांगी थी.

इस पूरे मामले को पुलिस ने गंभीरता से लिया. सर्विलांस और सूत्रों के मदद से जाल बिछाया. और गुरुवार की रात केशव के कातिलों को धर दबोचा. मामले का खुलासा हुआ तो सब हैरान रह गए. दरअसल केशव को अगवा कर उसकी हत्या करने की साजिश उसकी चाची निधि ने अपने प्रेमी जसवंत के साथ मिलकर रची थी.

पुलिस के मुताबिक अपहरण की रात ही बदमाशों ने केशव की गला दबाकर हत्या कर दी थी. बाद में उसकी लाश के टुकड़े-टुकड़े कर दिए थे. पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर केशव की लाश के टुकड़े और कपड़े रायबरेली बछरावां नहर के किनारे से बरामद कर लिए हैं. पुलिस ने आरोपी महिला निधि, उसके प्रेमी जसवंत और उसके पति कुलदीप सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है.

एसपी ट्रांसगोमती मनीराम यादव ने बताया कि आरोपी चाची और उसके साथी मनीष को झांसे में रखकर रकम वसूल करना चाहते थे. लेकिन पुलिस की तत्परता से उनकी साजिश नाकाम हो गई. हालांकि निधि के पति कुलदीप का एक साथी सूरज अभी फरार है.

उधर, केशव की मौत से गुस्साए परिजनों ने थाने पर हंगामा किया. वे पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगा रहे हैं. पुलिस ने आरोपियों के मोबाइल फोन और एक बाइक भी बरामद की है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें