scorecardresearch
 

13 महीने पहले ही एक्सपायर हो गया था नित्यानंद का पासपोर्ट

सीबीआई की गिरफ्त से बाहर चल रहे नित्यानंद का पासपोर्ट सामने आया है. इंडिया टुडे को नित्यानंद का जो पासपोर्ट मिला है, वह करीब 13 महीने पहले यानी 30 सितंबर 2018 को ही एक्सपायर हो गया था.

 नित्यानंद (फाइल फोटो) नित्यानंद (फाइल फोटो)

  • नित्यानंद के आश्रम की 2 संचालिकाओं की हो चुकी है गिरफ्तारी
  • दो बच्चों के अपहरण का है नित्यानंद पर आरोप, चल रही तलाश

स्वामी नित्यानंद की तलाश में सीबीआई लगातार छापेमारी कर रही है, लेकिन अभी तक  नित्यानंंद के बारे में कोई ठोस जानकारी नहीं मिल पा रही है. इस बीच अपहरण के मामले में फरार चल रहे नित्यानंद का पासपोर्ट इंडिया टुडे को मिला है, जो करीब 13 महीने पहले यानी सितंबर 2018 को एक्सपायर हो गया था.

वहीं, गुरुवार को विदेश मंत्रालय ने कहा था कि नित्यानंद त्रिनिदाद एंड टोबैगो में है. सूत्रों का कहना है कि नित्यानंद नेपाल के रास्ते त्रिनिदाद एंड टोबैगो के लिए भागा है. पासपोर्ट के एक्सपायर होने पर कर्नाटक के रामनगर जिले के पूर्व एसपी का कहना है कि जब तक किसी के खिलाफ कोई केस पेंडिंग होता है, तब तक हम किसी के पासपोर्ट के नवीनीकरण की सिफारिश नहीं करते हैं.

उन्होंने कहा कि बतौर एसपी मैंने जब चेक किया और जब पता चला कि केस पेंडिग है, तो उसकी सिफारिश की मांग को खारिज कर दिया. हमने उसके पासपोर्ट नवीनीकरण के लिए सिफारिश नहीं की. नित्यानंद के खिलाफ बाल श्रम निषेध अधिनियम की धारा 14 और भारतीय दंड संहिता यानी आईपीसी की धारा 365, 344, 504, 506 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है.

गुरुवार को नित्यानंद और डीपीएस स्कूल के कनेक्शन को लेकर पुलिस ने कारर्वाई की थी. पुलिस ने डीपीएस स्कूल के प्रिंसिपल हितेश पूरी और पुष्पक सिटी के मैनेजर बकुल ठक्कर को गिरफ्तार किया गया था. हालांकि बाद में पूछताछ के बाद इनको छोड़ दिया गया था. बुधवार को नित्यानंद के आश्रम की 2 संचालिकाओं को भी गिरफ्तार किया जा चुका है. इसके अलावा सीबीएसई ने गुजरात शिक्षा बोर्ड से स्कूल की जमीन पर आश्रम खोले जाने पर रिपोर्ट मांगी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें